सभी ग्रहों को प्रसन्न करने के उपाय

वैदिक ज्योतिष में, हमारे पास नौ ग्रह हैं जो जीवन को प्रभावित करते हैं - सूर्य, चंद्रमा, बुध, शुक्र, मंगल, बृहस्पति, शनि, राहु और केतु। जब बिना किसी स्पष्ट कारण के अचानक परिस्थितियाँ उत्पन्न होती हैं, तो यह आपकी कुंडली में इन ग्रहों की गलत स्थिति के कारण हो सकता है। यहाँ, हम आपके लिए हिंदी में ग्रह को प्रसन्न करने का उपाय (Remedy to please planet in hindi), ग्रहों को प्रसन्न करने और उनकी स्थिति को ठीक करने के लिए ज्योतिषीय उपाय लेकर आए हैं।

आपकी कुंडली में कोई ग्रह कमजोर है इसके संकेत

इससे पहले कि हम ग्रहों को मजबूत बनाने के आसान और प्रभावी उपायों को पढ़ेंगे। आइए हिंदी में ग्रह को प्रसन्न करने का उपाय (Remedy to please planet in hindi) संकेतों या लक्षणों पर एक नज़र डालें जो बताते हैं कि आपकी कुंडली में कोई ग्रह कमजोर है।

क्र.सं.ग्रह/नवग्रहकमजोर ग्रह के संभावित संकेत
1.सूर्य (अहंकार और साहस का ग्रह)आत्मविश्वास की कमी, पिता के साथ बहस
2.चंद्रमा (भावना और ज्ञान का ग्रह)चिंता और मनोदशा में उतार-चढ़ाव
3.बुध (संचार का ग्रह)बहन के साथ खराब संबंध, आत्म-संदेह
4.शुक्र (सुंदरता और आनंद का ग्रह)अनुकूलता का अभाव, देर से विवाह
5.मंगल (कार्रवाई और आक्रामकता का ग्रह)दुर्घटनाएं, स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं और आत्मविश्वास की कमी
6.बृहस्पति (विकास का ग्रह)करियर, प्रेम और शिक्षा में सीमित अवसर
7.शनि (धैर्य और त्याग का ग्रह)त्वचा और हड्डियों की समस्याएं, परिणाम में देरी
8.राहु (कर्म और भौतिकवाद का ग्रह)वित्तीय अस्थिरता, धन हानि, ऋण
9.केतु (आध्यात्मिकता और वैराग्य का ग्रह)धन की हानि, बच्चों को परेशानी, रोग

सटीक भविष्यवाणी के लिए कॉल या चैट के माध्यम से ज्योतिषी से जुड़ें

9 ग्रहों (नवग्रह) के लिए ज्योतिष उपाय

आपकी कुंडली में ग्रहों की कमजोर स्थिति दुर्भाग्य और बाधाओं का कारण बन सकती है। इसलिए, ग्रहों के उपाय ज्योतिष की मदद से अपने जीवन की बागडोर अपने हाथों में लेने का समय आ गया है। क्या आप सोच रहे हैं कि हिंदी में ग्रहों को मजबूत कैसे बनाएं(How to make planets strong in hindi)? यहाँ सभी ग्रहों को संतुलित करने और अपने भाग्य को बढ़ाने के लिए ज्योतिषीय उपाय और मंत्र दिए गए हैं। पर सभी ग्रहों का एक मंत्र नहीं होता है और सभी ग्रहों का तोड़ एक नहीं होता है।

ग्रहों के लिए वैदिक उपाय

वैदिक उपाय आपकी कुंडली में कमजोर ग्रह को मजबूत करने और उसके संभावित संकेतों से छुटकारा पाने का एक शानदार तरीका है। यह ग्रहों और उनसे जुड़े देवी-देवताओं को प्रसन्न करने में भी मदद करता है। नीचे 9 ग्रहों के लिए शीर्ष वैदिक उपायों पर विचार करें। आइये सभी ग्रह को मजबूत करने के उपाय और सभी ग्रहों को शांत करने के उपाय को जानें।

सूर्य के लिए उपाय

  • सूर्य को प्रसन्न करने के लिए प्रतिदिन सुबह तांबे के बर्तन में जल लेकर सूर्य को अर्पित करें।
  • अपनी कुंडली में सूर्य को मजबूत करने के लिए, घर से निकलने से पहले या कोई नया काम शुरू करने से पहले हमेशा एक गिलास चीनी मिला पानी पीएं।
  • शाकाहारी भोजन ग्रहण करें और जरूरतमंदों को दवाइयां और कपड़े दान करें।
  • माणिक्य रत्न पहनने से सूर्य शांत होता है। यह विशेष रूप से सिंह राशि के लिए बिल्कुल सही है, क्योंकि सूर्य इस राशि का स्वामी है।

चंद्रमा के लिए उपाय

  • कुंडली में कमजोर चंद्रमा के लिए भरपूर पानी पीना सरल उपायों में से एक है।
  • हर सोमवार को भगवान शिव को दूध चढ़ाएं। यह भी सभी ग्रहों के लिए एक उपाय है।
  • अमावस्या और पूर्णिमा के दिन पवित्र गंगा में स्नान कर पवित्र होने की सलाह दी जाती है।
  • चंद्रमा को मजबूत करने के लिए मोती रत्न पहनना एक बेहतरीन उपाय है। यह कर्क राशि के जातकों के लिए सबसे अच्छा काम करता है।

बुध के उपाय

  • नये खरीदे गए कपड़ों को पहनने से पहले धो लें।
  • बुध मंत्र का जाप भगवान बुध को प्रसन्न करने के लिए शक्तिशाली उपायों में से एक है।
  • पक्षियों को भिगोए हुए हरे चने खिलाना भी आसान और प्रभावी उपायों में से एक है।
  • कमजोर बुध वाले लोगों, विशेषकर मिथुन और कन्या राशि के जातकों को पन्ना अवश्य पहनना चाहिए।

शुक्र के उपाय

  • शुक्र ग्रह को प्रसन्न करने के लिए लक्ष्मी मंत्र का जाप करें और शुक्रवार को व्रत रखें।
  • शुक्र को मजबूत बनाने के सरल उपायों में से एक है स्वयं को संवारना, त्वचा की देखभाल करना और स्वयं को साफ रखना।
  • सफेद रंग के सामान और कपड़े पहनें क्योंकि यह शांति को बढ़ावा देता है और शुक्र शांति की देवी है।
  • लोगों, विशेषकर शुक्र राशि के जातकों - तुला और वृषभ को सकारात्मक शुक्र के लिए हीरा पहनना चाहिए।

मंगल ग्रह के लिए उपाय

  • प्रतिदिन मंदिर जाएं और धार्मिक स्थानों पर मिठाई चढ़ाएं। नवग्रह शांति का एक उपाय यह भी है।
  • बंदर को भोजन खिलाना मंगल को प्रसन्न करने का एक और शक्तिशाली उपाय है।
  • गायत्री मंत्र का जाप और भगवान गणेश की नारंगी मूर्ति की पूजा करने से भी मंगल ग्रह शांत होगा।
  • मंगल ग्रह को शांत करने के लिए लाल मूंगा या मूंगा पहनें। यह मेष और वृश्चिक राशि के जातकों के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है।

बृहस्पति के लिए उपाय

  • बृहस्पति ग्रह को प्रसन्न करने के लिए पीले रंग के आभूषण पहनें।
  • रेकिट गुरु बीज मंत्र ‘ॐ ग्रां ग्रीं सह गुरवे नमः’108 बार दैनिक जाप करें।
  • गुरुवार के दिन बृहस्पति से संबंधित वस्तुएं, जैसे पीले कपड़े, पवित्र पुस्तकें, पीले फूल, हल्दी, सोना आदि जरूरतमंदों को दान करें।
  • लोगों को, विशेषकर बृहस्पति ,मीन और धनु राशि के जातकों को पुखराज अवश्य पहनना चाहिए।

शनि के लिए उपाय

  • निमट्री टूथपेस्ट से दांत साफ करना शनि को मजबूत बनाने के आसान और प्रभावी उपायों में से एक है। नवग्रह शांति का एक उपाय यह भी है।
  • मंगलवार और शनिवार को हनुमान जी की पूजा करें और जरूरतमंदों को जूते दान करें।
  • यदि आपकी कुंडली में शनि कमजोर है तो शाकाहारी भोजन का पालन करें और शराब से बचें।
  • कमजोर शनि वाले लोगों को, विशेषकर मकर और कुंभ राशि वालों को, नीलम रत्न अवश्य पहनना चाहिए।

राहु के उपाय

  • राहु (चंद्रमा का उत्तरी भाग) के दुष्प्रभावों से बचने के लिए माता-पिता के साथ संयुक्त परिवार में रहने का प्रयास करें।
  • यदि राहु के कमजोर होने के कारण विवाह में समस्या आ रही हो तो जीवनसाथी के तकिए के नीचे 5 मूली रखें और अगले 5 शनिवार तक उन्हें पानी में बहा दें।
  • जितना संभव हो सके गहरे नीले रंग के कपड़े पहनने का प्रयास करें।
  • सकारात्मक राहु को आकर्षित करने के लिए हेसोनाइट या गोमेद रत्न पहने।

केतु के लिए उपाय

  • केतु (चन्द्रमा का दक्षिणी भाग) के सकारात्मक प्रभाव को आकर्षित करने के लिए बेघर बच्चों को भोजन कराएं।
  • सरसों का तेल दान करना भी केतु को शांत करने के आसान और प्रभावी उपायों में से एक है।
  • कुत्तों को खाना खिलाकर और उनके साथ समय बिताकर राहु के दुष्प्रभाव को कम करें।
  • केतु को प्रसन्न करने के लिए लहसुनिया या वैदूर्य के नाम से भी जाना जाने वाला लहसुनिया रत्न धारण करें।

ग्रहों के लिए वास्तु उपाय

ग्रहों के लिए वास्तु उपायों में विभिन्न ग्रहों को प्रसन्न करने के लिए घर में वस्तुओं को उपयुक्त यानि सही दिशाओं में रखना शामिल है। ये कुछ सरल उपाय हैं जिनसे आप अपने घर में सभी ग्रहों को संतुलित रखकर सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बनाए रख सकते हैं। यहाँ सभी ग्रह को मजबूत करने के उपाय या प्रसन्न करने के लिए कुछ लोकप्रिय वास्तु उपाय दिए गए हैं। आइये सभी ग्रहों को शांत करने के उपाय को जाने।

सूर्य को प्रसन्न करने के लिए सही वास्तु

अपनी कुंडली में सूर्य को मजबूत करने के लिए अपने घर या भवन की पूर्वी दीवार पर सूर्य यंत्र लगाने की सलाह दी जाती है। इससे सूर्य के कारण होने वाले अशुभ दबाव में कमी आएगी और सूर्य देव प्रसन्न होंगे।

चंद्रमा को प्रसन्न करने के लिए सही वास्तु

अपने जीवन में चंद्रमा की सकारात्मक उपस्थिति को आकर्षित करने के लिए, अपने घर की पश्चिम दिशा को ऊंचा रखें, हो सकता है कि दूसरे कमरे तक जाने वाली सीढ़ियाँ हों। यदि संभव हो तो घर का भारी सामान दक्षिण-पश्चिम (नैऋत्य कोण) या उत्तर-पश्चिम (वायव्य कोण) में रखें।

बुध को प्रसन्न करने के लिए सही वास्तु

अपने बुध को मजबूत बनाने के लिए बुधवार के दिन घर के मुख्य द्वार पर पांच तरह के हरे पत्तों का तोरण बनाकर टांगें। साथ ही वास्तु शास्त्र के अनुसार उत्तर दिशा बुध से जुड़ी हुई है, इसलिए घर के इस हिस्से को साफ-सुथरा और अव्यवस्था मुक्त रखें।

शुक्र को प्रसन्न करने के लिए सही वास्तु

शुक्र को मजबूत बनाने के लिए सबसे आसान और प्रभावी उपायों में से एक है घर में शुक्र यंत्र रखना। शुक्र को प्रसन्न करने के लिए इसके लिए सबसे उपयुक्त दिशा उत्तर-पूर्व (ईशान कोण) होगी।

मंगल को प्रसन्न करने के लिए सही वास्तु

यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपकी कुंडली में मंगल मजबूत है, दक्षिण दिशा में शयनकक्ष और गोदाम बनाने की सलाह दी जाती है। यह विशेष रूप से करियर और व्यवसाय में वृद्धि के लिए आवश्यक है।

बृहस्पति को प्रसन्न करने के लिए सही वास्तु

माना जाता है कि उत्तर-पूर्व दिशा (ईशान कोण) का स्वामी बृहस्पति है। यह तय करें कि पानी की बोतल, पानी की टंकी, मटका या पानी जमा करने वाली कोई भी चीज घर के उत्तर-पूर्वी हिस्से में ही रखी जाए।

शनि को प्रसन्न करने के लिए सही वास्तु

शनि को पश्चिम दिशा का स्वामी माना जाता है। इसलिए शनि ग्रह को प्रसन्न करने के लिए शनि मंत्र का जाप करना चाहिए और पश्चिम दिशा में मुंह करके शनिदेव की पूजा करनी चाहिए। ऐसा करने से ऑफिस में काम में तेजी आती है और निजी मामले सुलझते हैं।

राहु को प्रसन्न करने के लिए सही वास्तु

कुंडली में राहु को मजबूत करने के लिए वास्तु उपाय यह है कि आप अपने घर, दुकान या ऑफिस की दक्षिण-पश्चिम दिशा (नैऋत्य कोण) में राहु यंत्र रखें। इस दिशा में पानी को रखना भी लाभकारी हो सकता है।

केतु को प्रसन्न करने के लिए सही वास्तु

केतु के लिए सबसे आसान और कारगर उपाय है अपने घर के मंदिर में केतु यंत्र की छवि के साथ भगवान हनुमान जी, गणेश जी और माँ दुर्गा की मूर्ति रखना। यह मंदिर आपके घर के उत्तर-पूर्व कोने में होना सबसे अच्छा होगा।

सभी ग्रहों के लिए लाल किताब उपाय

सभी ग्रहों के लिए लाल किताब के उपाय ग्रहों की गतिविधियों और हस्तरेखा शास्त्र के आधार पर ग्रहों की नकारात्मक स्थिति से बचने के लिए आसान और प्रभावी उपाय हैं। यहाँ सभी ग्रहों को संतुलित करने के सरल लेकिन शक्तिशाली लाल किताब उपाय दिए गए हैं।

सूर्य के लिए

  • सूर्य को शांत करने के लिए नियमित रूप से पक्षियों को दाना डालें।
  • रविवार को गरीबों को गुड़, गेहूं या लाल मसूर की दाल दान करें।
  • पिता को आदर दें।
  • बहते पानी में नारियल या लाल फूल डालें।

चंद्रमा के लिए

  • गायों को चारा खिलाएं या दूध दान करें।
  • कमरे के चारों कोनों में तांबे की कीलें लगाएं।
  • पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाएं।
  • मंदिर में सफेद कद्दू चढ़ाएं।

बुध के लिए

  • मसूर की दाल या लाल कपड़ा दान करें।
  • स्टेनलेस स्टील की एक अंगूठी पहनें।
  • बहते पानी में तांबे का सिक्का डालें।
  • नीम के पेड़ पर जल चढ़ाएं।

बृहस्पति के लिए

  • पीली दाल, केले या मिठाई दान करें।
  • पक्षियों को दाना खिलाएं।
  • बहते पानी में पीला फूल डालें।
  • यदि शनि पांचवें भाव में हो तो मकान न बनाएं।

शुक्र ग्रह के लिए

  • चावल, सफेद दाल या चांदी का दान करें।
  • शिवलिंग पर प्रतिदिन ताजा दूध या जूस चढ़ाएं।
  • गायों को चारा खिलाएं।
  • अपने माथे पर सफेद चंदन का लेप लगाएं।

शनि के लिए

  • काली दाल या सरसों का तेल दान करें।
  • रात को दूध पीने से बचें।
  • कौओं को चावल और दाल खिलाएं।
  • पवित्र जल में तिल डालकर अर्पित करें।

राहु (चन्द्रमा का उत्तरी नोड) के लिए

  • नारियल या पान का दान करें।
  • हमेशा एक मोर पंख रखें।
  • काले कुत्तों को खाना खिलाएं।
  • मंदिर में दूध या दही चढ़ाएं।

केतु (चन्द्रमा का दक्षिणी नोड) के लिए

  • रसोई घर में चांदी से बना शहद से भरा बर्तन रखें।
  • काम पर जाते समय जेब या पर्स में चांदी से बनी गेंद रखें।
  • मंदिर में लाल मसूर की दाल और लाल फूल दान करें।
  • कुत्तों को खाना खिलाएं।

ज्योतिषी ग्रहों को प्रसन्न करने और आपके जीवन को व्यावहारिक रूप से आसान बनाने के लिए ज्योतिषीय उपाय दिए गए हैं। अधिक उपायों के लिए, इंस्टाएस्ट्रो ज्योतिषियों से निःशुल्क कॉल/चैट पर जुड़ें। इंस्टाएस्ट्रो ऐप पर साइन अप करें और हमारे ऑनलाइन स्टोर को एक्सप्लोर करना न भूलें।

आपको अपने दैनिक कर्म पर नज़र रखनी चाहिए और साथ ही ग्रहों के उपाय ज्योतिष से करने चाहिए। हालांकि, प्रत्येक उपाय का उपयोग ज्योतिषियों के मार्गदर्शन के अनुसार करें। यह अलग-अलग व्यक्तियों के लिए कारगर हो भी सकता है और नहीं भी।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल-

सभी ग्रहों को मजबूत करने का सबसे शक्तिशाली उपाय मंत्रों का जाप है। मंत्रों का जाप, विशेष रूप से नवग्रह मंत्र, आपके चार्ट में सभी ग्रहों की ऊर्जा को संतुलित करने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, भगवान शिव के शिवलिंग पर दूध चढ़ाना एक और प्रभावी उपाय है।
बृहस्पति को मजबूत बनाने का सबसे सरल उपाय है गुरुवार को पीले कपड़े पहनना। अगर आपका बृहस्पति कमजोर है तो आपको पुखराज रत्न पहनना शुरू कर देना चाहिए।
ज्योतिषी आपकी ज्योतिषीय रिपोर्ट की जांच करके यह पता लगाते हैं कि आपकी कुंडली में शुक्र मजबूत है या कमजोर। कमजोर शुक्र के कुछ सामान्य लक्षण हैं देर से शादी, प्रेम जीवन में समस्याएं और जोड़ों में असंगति हो सकती है।
कमजोर चंद्रमा के लिए एक सरल उपाय है रोजाना दूध पीना। चंद्र मंत्र - ‘ॐ श्रां श्रीं श्रौं सः चंद्राय नमः’ का जाप करने का प्रयास करें, खास तौर पर सोमवार को इस मंत्र का जाप करें।
बुध देव को प्रसन्न करने के लिए पन्ना रत्न पहने। बुध का जाप करें, खास तौर पर सोमवार को - ‘ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः’। ये बुध के लिए दो सबसे लोकप्रिय उपाय हैं।
राहु की कृपा पाने के लिए एक सरल उपाय है कुत्तों के साथ समय बिताना। राहु के कमजोर होने पर काले कुत्तों को खाना खिलाएं।
Karishma tanna image
close button

Karishma Tanna believes in InstaAstro

Karishma tanna image
close button

Urmila Matondkar Trusts InstaAstro