वाहन खरीदने के लिए शुभ मुहूर्त का महत्व

क्या आप इस 2023 में एक नया वाहन खरीदने की योजना बना रहे हैं? अपनी नई कार या बाइक खरीदने के लिए सबसे शुभ समय या शुभ मुहूर्त जानना चाहते हैं? चिंता न करें क्योंकि हमने आपकी परेशानी का हल निकाल लिया है। शुभ मुहूर्त का अर्थ है शुभ समय। हिंदू संस्कृति में शुभ मुहूर्त बहुत अधिक महत्व रखते हैं क्योंकि ऐसा माना जाता है कि शुभ मुहूर्त के दौरान होने वाला कोई भी और हर कार्य व्यक्ति के लिए सकारात्मकता और अनुकूल परिणाम लाता है।

आज भी जबकि कई देशों में गरीबी रेखा के आधार पर गरीबी निर्धारित की जाती है। जिससे पता चलता है कि किसी व्यक्ति के पास कार है या नहीं। भारत में वाहन का मालिक होना एक बड़ी बात है। बढ़ते मध्यम वर्ग के साथ कार या वाहन खरीदना कई लोगों के लिए एक सपना हो सकता है। इसके अलावा वाहन इतना बड़ा निवेश और खरीद होने के कारण लोग इसे कोई सामान्य चीज़ नहीं मानते हैं बल्कि इसे अपने परिवार का सदस्य होने पर जोर देते हैं - अपने बच्चे की तरह। चूंकि ये वाहन महंगे होते हैं। इसलिए लोग चाहते हैं कि यह किसी भी बुरी नजर से सुरक्षित रहे। ऐसा करने के लिए लोग अक्सर अपनी कारों में नींबू मिर्च टांगने या डैशबोर्ड पर भगवान की तस्वीरें और मूर्तियों को रखने जैसे तरीकों का इस्तेमाल करते हैं। एक और तरीका जो लोग अपनी कार को बुरी नज़र से बचाने के लिए और अपने वाहन को किसी भी नुकसान से बचाने के लिए उपयोग करते हैं। जिसमें विशिष्ट रूप से शुभ मुहूर्त के दौरान उस वाहन को खरीदना शामिल है।

इस कारण लोग घंटों इंटरनेट पर खोज करते हैं जैसे - वास्तु के अनुसार कार खरीदने का सबसे अच्छा दिन, जन्मतिथि के अनुसार वाहन खरीदने का मुहूर्त, वाहन क्रय के लिए शुभ मुहूर्त, मैं कार ज्योतिष कब खरीदूंगा, नई कार की डिलीवरी लेना, कार डिलीवरी के लिए शुभ दिन, कौन से मुहूर्त में कार खरीदने के लिए दिन अच्छा है। अगर आप भी ऐसे ही सवालों की तलाश कर रहे थे। तो आप सही जगह पर आए हैं। हमने कार खरीद और वाहन क्रय मुहूर्त 2023 के लिए सबसे शुभ मुहूर्त सूचीबद्ध किया है। इसके अलावा यदि आप शुभ मुहूर्त के बारे में अधिक जानना चाहते हैं। तो इंस्टाएस्ट्रो की वेबसाइट देखें या अपने सवालों के जवाब पाने के लिए ऐप डाउनलोड करें।

सटीक भविष्यवाणी के लिए कॉल या चैट के माध्यम से ज्योतिषी से जुड़ें

शुभ मुहूर्त - मूल्य और महत्व

हिन्दू संस्कृति में शुभ मुहूर्तों का बहुत अधिक महत्व बताया गया है। ऐसा इसलिए है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि शुभ मुहूर्त में जो कुछ भी होता है या शुरू होता है वह जातक के लिए शुभ और अनुकूल परिणाम लाता है। शुभ मुहूर्त शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है- शुभ और मुहूर्त। शुभ का अर्थ है बहुत अच्छा और मुहूर्त का अर्थ हिंदू संस्कृति के अनुसार समय की एक इकाई है। इस प्रकार जब यह शब्द एक साथ रखा जाता है तो शुभ मुहूर्त शब्द का अर्थ शुभ समय होता है। लोगों में ज्योतिष के प्रति आस्था बढ़ने के साथ ही शुभ मुहूर्त की अवधारणा कुछ नई नहीं हो जाती है। इसके विपरीत यह युगों से चला आ रहा है। पहले के समय में कोई भी कार्य या उपक्रम शुरू करने से पहले जातक के लिए सबसे अनुकूल और लाभकारी परिणाम प्राप्त करने के लिए लोग उस दिन के शुभ मुहूर्तों की जांच करते थे। यह परंपरा आज भी जारी है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि यह पूजा, लगन या यज्ञ जैसा पवित्र कार्य है या कुछ नया लेना या खरीदना है। लोग सबसे अधिक लाभकारी परिणाम प्राप्त करने के लिए और बुरी नजर को रोकने के लिए सबसे शुभ मुहूर्तों की तलाश करते हैं।

शुभ मुहूर्त के दौरान कहा जाता है कि सभी सितारों और ग्रहों की स्थिति ऐसी होती है कि वे जातक को अनुकूल परिणामों का आशीर्वाद देते हैं। इसलिए शुभ मुहूर्त के दौरान बहुत कम या कोई नकारात्मक प्रभाव नहीं होता है। इस प्रकार लोग इन शुभ समय के दौरान सकारात्मकता को आकर्षित करने के लिए अधिकतर चीजें करते हैं।

कार खरीदने के लिए शुभ मुहूर्त

भारत में वाहन खरीदना एक बड़ी बात है। लोग अपने वाहनों को किसी भी दुर्घटना से बचाने के लिए बहुत कुछ करते हैं। इसके लिए कुछ लोग शुभ मुहूर्त के दौरान वाहनों को खरीदते हैं।

शुभ मुहूर्त में वाहन या कार खरीदने का सबसे अच्छा समय यह सुनिश्चित करता है कि सभी सितारे और ग्रह ऐसी स्थिति में हैं जो जातक के लिए सकारात्मक, लाभकारी और अनुकूल परिणाम लाएगा। आइए नजर डालते हैं साल 2023 में वाहन खरीदने के लिए लोगों के लिए सबसे शुभ मुहूर्त पर।

वाहन खरीदने का मुहूर्त 2023

यदि आपके पास भी वाहन खरीदने का मुहूर्त, कार खरीदने का शुभ मुहूर्त या 2023 में कार खरीदने का शुभ दिन कौन सा है। जैसे प्रश्न हैं। तो फिर अपने सपनों का वाहन खरीदने या बुक करने का सबसे शुभ समय जानने के लिए नीचे स्क्रॉल करें।

  1. जनवरी 2023
तिथि दिनसमय (मुहूर्त)
4 जनवरी 2023, बुधवार07:15 से 5 जनवरी 00:00
15 जनवरी 2023, रविवार07:15 से 19:45
18 जनवरी 2023, बुधवार07:15 से 16:03
23 जनवरी 2023, सोमवार18:43 से 24 जनवरी 07:13
26 जनवरी 2023, गुरुवार18:57 से 27 जनवरी, 07:12
  1. फरवरी 2023
तिथि दिनसमय (मुहूर्त)
1 फरवरी 2023 बुधवार07:10 से 14:01
3 फरवरी 2023 शुक्रवार07:08 से 18:57
5 फरवरी 2023 रविवार07:07 से 12:13
10 फरवरी 2023, शुक्रवार07:58 से 11 फरवरी 07:03
27 फरवरी 2023, सोमवार06:49 से 28 फरवरी 02:21
  1. मार्च 2023
तिथि दिनसमय (मुहूर्त)
2 मार्च 2023 गुरुवार12:43 से 3 मार्च 06:45
9 मार्च 2023 गुरुवार20:54 से 10 मार्च 06:37
10 मार्च 2023 शुक्रवार06:37 से 21:42
13 मार्च 2023, सोमवार08:21 से 21:27
19 मार्च 2023, रविवार08:07 से 20 मार्च 04:55
26 मार्च 2023 रविवार14:01 से 27 मार्च 06:18
27 मार्च 2023, सोमवार06:18 से 17:27
31 मार्च 2023, शुक्रवार06:13 से 01 अप्रैल 01:57
  1. अप्रैल 2023
तिथि दिनसमय (मुहूर्त)
5 अप्रैल 2023 बुधवार1:23 से 06 अप्रैल 06:06
6 अप्रैल 2023 गुरुवार06:06 से 07 अप्रैल 06:05
7 अप्रैल 2023 शुक्रवार06:05 to 10:20
10 अप्रैल 2023, सोमवार08:37 से 13:39
16 अप्रैल 2023, रविवार05:55 से 18:14
24 अप्रैल 2023, सोमवार08:24 से 25 अप्रैल 02:07
26 अप्रैल 2023, बुधवार05:45 से 11:27
27 अप्रैल 2023, गुरुवार13:38 से 28 अप्रैल 05:43
28 अप्रैल 2023, शुक्रवार05:43 से 09:53
  1. मई 2023
तिथि दिनसमय (मुहूर्त)
3 मई 2023 बुधवार05:39 से 23:49
5 मई 2023 शुक्रवार05:38 से 21:40
12 मई 2023 शुक्रवार09:06 से 13 मई 05:32
14 मई 2023, रविवार05:31 से 10:16
22 मई 2023, सोमवार05:27 से 10:37
24 मई 2023, बुधवार05:26 से 25 मई 05:26
25 मई 2023, गुरुवार05:26 से 17:54
31 मई 2023, बुधवार05:24 से 13:45
  1. जून 2023
तिथि दिनसमय (मुहूर्त)
1 जून 2023, गुरुवार13:39 से 02 जून 05:24
8 जून 2023 गुरुवार05:23 से 09 जून 05:23
9 जून 2023, शुक्रवार05:23 से 16:20
12 जून 2023 सोमवार13:49 से 13 जून 05:23
21 जून 2023 बुधवार05:24 से 15:09
26 जून 2023, सोमवार12:44 से 27 जून 02:04
28 जून 2023 बुधवार05:26 से 29 जून 05:26
29 जून 2023, गुरुवार05:26 से 16:30
  1. जुलाई 2023
तिथि दिनसमय (मुहूर्त)
5 जुलाई 2023, बुधवार10:02 से 06 जुलाई 02:56
7 जुलाई 2023, शुक्रवार05:29 से 22:16
9 जुलाई 2023, रविवार19:59 से 10 जुलाई 05:30
10 जुलाई 2023, सोमवार05:30 से 18:43
14 जुलाई 2023, शुक्रवार19:17 से 15 जुलाई 05:33
  1. अगस्त 2023
तिथि दिनसमय (मुहूर्त)
21 अगस्त 2023, सोमवार05:53 से 22 अगस्त 05:54
24 अगस्त 2023, गुरुवार09:04 से 25 अगस्त 03:10
30 अगस्त 2023, बुधवार10:58 से 31 अगस्त 05:58
31 अगस्त 2023, गुरुवार05:58 से 17:45
  1. सितंबर 2023
तिथि दिनसमय (मुहूर्त)
6 सितंबर 2023, बुधवार15:37 से 07 सितंबर 06:02
7 सितंबर 2023, गुरुवार06:02 से 16:14
10 सितंबर 2023, रविवार06:03 से 21:28
17 सितंबर 2023, रविवार1:08 से 18 सितंबर 06:07
18 सितंबर 2023, सोमवार06:07 से 12:39
20 सितंबर 2023, बुधवार14:59 से 21 सितंबर 06:09
21 सितंबर 2023, गुरुवार06:09 से 14:14
25 सितंबर 2023, सोमवार11:55 से 26 सितंबर 05:00
27 सितंबर 2023, बुधवार06:12 से 22:18
  1. अक्टूबर 2023
तिथि दिनसमय (मुहूर्त)
23 अक्टूबर 2023, सोमवार17:44 से 24 अक्टूबर 06:27
25 अक्टूबर 2023, बुधवार06:28 से 12:32
  1. नवंबर 2023
तिथि दिनसमय (मुहूर्त)
1 नवम्बर 2023, बुधवार21:19 से 02 नवंबर 04:36
3 नवंबर 2023 शुक्रवार06:34 से 23:07
10 नवंबर 2023, शुक्रवार12:35 से 11 नवंबर 06:40
20 नवंबर 2023, सोमवार06:47 से 21 नवंबर 03:16
27 नवंबर 2023, सोमवार13:35 से 28 नवंबर 06:54
  1. दिसंबर 2023
तिथि दिनसमय (मुहूर्त)
1 दिसंबर 2023 शुक्रवार15:31 से 02 दिसंबर 06:57
7 दिसंबर 2023 गुरुवार07:01 से 08 दिसंबर 07:01
8 दिसंबर 2023, शुक्रवार07:01 से 09 दिसंबर 06:31
10 दिसंबर 2023, रविवार07:13 से 11:50
17 दिसंबर 2023, रविवार07:07 से 18 दिसंबर 07:08
18 दिसंबर 2023, सोमवार07:08 से 15:13
21 दिसंबर 2023, गुरुवार09:37 से 22:09
24 दिसंबर 2023, रविवार21:19 से 25 दिसंबर 05:54 तक
29 दिसंबर 2023, शुक्रवार07:59 से 30 दिसंबर 03:10 तक

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल-

पुनर्वसु नक्षत्र, श्रवण नक्षत्र, धनिष्ठा नक्षत्र, शतभिषा नक्षत्र और स्वाति नक्षत्र वाहन क्रय के लिए शुभ और श्रेष्ठ माने गए हैं।
यदि आप वाहन खरीदना चाहते हैं तो सोमवार, बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार और रविवार सप्ताह के सबसे शुभ दिन माने जाते हैं। इसके अलावा किसी व्यक्ति को मंगलवार और शनिवार को वाहन नहीं खरीदने की सलाह दी जाती है क्योंकि ये दिन धातु खरीदने के लिए शुभ नहीं माने जाते हैं।
निम्नलिखित नक्षत्रों के मूल निवासी बहुत समृद्ध माने जाते हैं - पुनर्वसु नक्षत्र, विशाखा नक्षत्र और पूर्व-भद्रा नक्षत्र।
ऊपर उल्लिखित तिथियां हैं जो एक व्यक्ति को मूल निवासी के लिए सबसे अधिक लाभकारी और लाभदायक परिणाम प्रदान करेंगी।
पुनर्वसु नक्षत्र, श्रवण नक्षत्र, धनिष्ठा नक्षत्र, शतभिषा नक्षत्र और स्वाति नक्षत्र जो शुभ माने जाते हैं और वाहन वितरण के लिए सर्वोत्तम माने जाते हैं।
कार और वाहन खरीदने वाले ग्रह में शुक्र ग्रह भी शामिल है।
Karishma tanna image
close button

Karishma Tanna believes in InstaAstro

Urmila  image
close button

Urmila Matondkar Trusts InstaAstro