उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र का अर्थ

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में, ‘उत्तरा’ शब्द का अर्थ ‘उत्तरार्द्ध’ है, जबकि ‘भाद्रपद’ का अर्थ ‘धन्य’ है। उत्तरभाद्र नक्षत्र का प्रतीक ‘अंतिम संस्कार के स्ट्रेचर के पिछले पैर या ‘जुड़वाँ’ हैं। इसलिए, इस नक्षत्र का नाम सौभाग्य का संकेत देता है।

यह चंद्रमा के 27वें नक्षत्रों में से एक है, और इस नक्षत्र का स्वामी या देवता ‘अहिर्बुध्न्य’ या ‘गहरे पानी में सांप’ है। शनि ग्रह इस पर शासन करता है और रहस्यवाद का प्रतिनिधित्व करता है।

इसके अलावा, उत्तरत्थी नक्षत्र में लोग तब पैदा होते हैं जब चंद्रमा अपनी राशि में 3:20 और 16:40 डिग्री के बीच होता है। हिंदी में उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र (Uttara bhadrapada nakshatra in hindi)और इसकी राशि, भाग्य, अनुकूलता, विवाह, करियर के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आगे पढ़ना चाहिए।

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र की तिथियां

हिंदी में उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र (Uttara bhadrapada nakshatra in hindi)2024 की तारीखें और समय है।

तारीखसमय शुरूअंत समय
मंगलवार, 16 जनवरी 202406:13 सुबह, 16 जनवरी04:35 सुबह, 17 जनवरी
सोमवार, 12 फरवरी 202402:59 दोपहर, 12 फरवरी2:31 दोपहर, 13 फरवरी
सोमवार, 11 मार्च 202401:57 रात, 11 मार्च11:00 रात, 11 मार्च
रविवार, 7 अप्रैल 202412:58 दोपहर, 07 अप्रैल10:12 सुबह, 08 अप्रैल
शनिवार, 4 मई 202410:07 रात, 04 मई07:57 शाम , 05 मई
शनिवार, 1 जून 202404:48 सुबह , 01 जून03:16 सुबह, 02 जून
शुक्रवार, 28 जून 202410:10 सुबह , 28 जून08:49 सुबह , 29 जून
गुरुवार, 25 जुलाई 202404:16 शाम, 25 जुलाई02:30 दोपहर, 26 जुलाई
गुरुवार, 22 अगस्त 202412:33 रात, 22 अगस्त10:05 रात, 22 अगस्त
बुधवार, 18 सितंबर 202411:00 सुबह, 18 सितंबर08:04 सुबह, 19 सितंबर
मंगलवार, 15 अक्टूबर 202410:08 रात, 15 अक्टूबर07:18 शाम, 16 अक्टूबर
मंगलवार, 12 नवंबर 202407:52 सुबह, 12 नवंबर05:40 सुबह, 13 नवंबर
सोमवार, 9 दिसंबर 202402:56 दोपहर, 09 दिसंबर01:30 दोपहर, 10 दिसंबर

सटीक भविष्यवाणी के लिए कॉल या चैट के माध्यम से ज्योतिषी से जुड़ें

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र की विशेषताएं

यहां उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र हिंदी (Uttara bhadrapada nakshatra hindi)में विस्तृत विशेषताएं दी गई है। प्रत्येक कारक अलग-अलग विशेषताओं का प्रतीक है।

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र पहलूविशेषताएँ
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र स्वामी ग्रहशनि ग्रह
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र चिन्हअंतिम संस्कार स्ट्रेचर या जुड़वाँ के पिछले पैर
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र स्वामीअहिर्बुध्न्य - दीप का साँप
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र राशि या नवांशसिंह
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र राशि चक्रमीन राशि
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र भाग्यशाली रत्ननीला नीलमणि (नीलम पत्थर)
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र शुभ अंक8
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र पशु-पक्षीगाय और कोटान
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र वृक्षनीम का पेड़
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र गणमनुष्य (मानव)
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र शुभ रंगक्रीम और पीला
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र स्वभावअच्छा बोलने का कौशल और ईमानदारी

उत्तराभाद्रपद नक्षत्र की राशि

उत्तरभाद्रपद नक्षत्र राशि (Uttara bhadrapada nakshatra rashi)मीन है और इस नक्षत्र के अंतर्गत 30 डिग्री लंबा है। मीन राशि के लोगों का रुझान आध्यात्मिकता की ओर होता है और वे गुरु के अधीन सीखना और उपचार शक्तियां प्राप्त करना चाहते हैं। फिर, वे वास्तविक दुनिया में आते हैं और भविष्यवाणी, ज्योतिष, सामाजिक कार्य और वैदिक शिक्षा के माध्यम से लोगों की मदद करने का प्रयास करते हैं। उनका मानना है कि सब कुछ किसी कारण से होता है और वे अपने आस-पास होने वाली सभी चीजों पर बहुत विचार करते हैं।

इसके अलावा, इन जातकों के पास कुंडलिनी ऊर्जा होती है जो उन्हें किसी भी विषय में गहराई तक जाने में मदद करती है जिसमें उनकी रुचि होती है। उनके पास मजबूत नैतिक मूल्य हैं। लोग सोचते हैं कि वे हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि उन्हें चीजों पर विचार करने और दूसरों की ऊर्जा पर प्रतिक्रिया करने में समय लगता है

इसके अतिरिक्त, वे बहुत धैर्यवान, हमेशा शांत शांत स्वभाव के होते हैं। जब उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र करियर की बात आती है, तो वे अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के बारे में बहुत सकारात्मक होते हैं। इसके अलावा, यदि आपके मित्र मंडली में इस नक्षत्र के तहत पैदा हुए मीन राशि यानि उत्तरभाद्रपद नक्षत्र राशि (Uttara bhadrapada nakshatra rashi)के लोग हैं, तो आप उन्हें शांत और शांतिपूर्ण पाएंगे, इसलिए उन्हें किसी भी समूह के संत के रूप में जाना जाता है।

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र लक्षण पुरुष

ये उत्तराभाद्रपद नक्षत्र हिंदी में (Uttara bhadrapada nakshatra hindi)कुछ पुरुष लक्षण हैं। हमने उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र के पुरुष के स्वास्थ्य, प्रेम, रिश्ते और विवाह सहित इसके विभिन्न पहलुओं का उल्लेख किया है।

व्यक्तित्व

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र के पुरुष अच्छे दिल वाले होते हैं और अपनी स्थिति के आधार पर दोस्त नहीं बनाते हैं। ये गुस्सैल स्वभाव के होते हैं, लेकिन इनका गुस्सा कुछ ही सेकंड तक रहता है। वे दान देने वाले होते हैं और जिन लोगों से वे प्यार करते हैं उनके लिए अपने जीवन का बलिदान भी कर सकते हैं। वे महान शिक्षार्थी हैं और उन्हें कई चीजों के बारे में व्यापक ज्ञान है। इससे वे बातचीत करते हैं और किसी के साथ भी अपनी चर्चा में शामिल होते हैं। उनमें संचार कौशल अच्छा होता है और वे किताबों के शौकीन होते हैं। वे बच्चों से प्यार करते हैं और ईमानदारी की ओर प्रेरित होते हैं।

प्यार और शादी

उत्तरा भाद्रपद प्रेम जीवन दर्शाता है कि वे भावनात्मक और यौन रूप से उत्साहित व्यक्ति हैं और हमेशा आसानी से महिला का ध्यान आकर्षित करते हैं। इस नक्षत्र के पुरुषों का बचपन सामान्य नहीं रहा होगा और वे उस प्यार की लालसा रखते हैं जो उन्हें कभी नहीं मिला। उत्तराभाद्रपद नक्षत्र मैरिड लाइफ के अनुसार उनके पति/पत्नी अपने पतियों के प्रति अत्यधिक स्नेह और देखभाल दिखाकर इस कमी को पूरा करते हैं। इसके अलावा, वे उन लोगों से आसानी से जुड़ जाते हैं जो उन्हें समझते हैं और उन्हें अपने आसपास अच्छा महसूस कराने की कोशिश करते हैं।

करियर

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र करियर योग्यता से अधिक कौशल पर प्रकाश डालता है। वे हमेशा उच्च शिक्षित नहीं होते हैं लेकिन एक साथ कई चीजों का अभ्यास करने और सीखने के इच्छुक होते हैं। उनकी बहु-कार्य क्षमता के कारण, उनके पास जीवित रहने के लिए पर्याप्त धन है। वे खुद को लगातार शिक्षित करते रहते हैं और ललित कलाओं की ओर अधिक रुझान रखते हैं, जो उन्हें अच्छे लेखक बनाता है। इसके अलावा, शादी के बाद ही उनका करियर स्थिर रहता है। गैर-लाभकारी कर्मचारी, ज्योतिषी, मनोविज्ञानी, योग शिक्षक और परामर्शदाता ऐसे करियर क्षेत्र हैं जिन्हें वे अपनाने की संभावना रखते हैं।

स्वास्थ्य

इस नक्षत्र के पुरुष जातक फिट शरीर वाले और शारीरिक रूप से मजबूत होते हैं। वे खुद को स्वस्थ रखने के लिए कोई विशेष प्रयास नहीं करते हैं, लेकिन यह तय करते हैं कि वे रोजाना सुबह और शाम की सैर या जॉगिंग के माध्यम से शारीरिक रूप से सक्रिय रहें। वे अच्छा खाते हैं और स्वस्थ, संतुलित आहार बनाए रखते हैं। इसके अलावा, उनके लिए जंक और अस्वास्थ्यकर भोजन खाना बहुत दुर्लभ है। हालांकि, वे छोटी-मोटी स्वास्थ्य समस्याओं को नजरअंदाज कर देते हैं जो बाद में इन व्यक्तियों के लिए समस्याग्रस्त हो सकती हैं।

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र लक्षण स्त्री

यहां उत्तराभाद्र नक्षत्र की महिला लक्षण की एक सूची दी गई है। इसके अतिरिक्त, हमने उनके प्रेम जीवन, विवाह, करियर और स्वास्थ्य के बारे में जानकारी प्रदान की है।

व्यक्तित्व

माना जाता है कि इस नक्षत्र की महिला जातक परिवार में सुख और सौभाग्य लाती हैं। उनमें परिवार की देखभाल करने वाली एक महिला का व्यक्तित्व है। वे युवाओं और बुजुर्गों से बहुत सम्मान अर्जित करते हैं। वे हमेशा उन चीजों के खिलाफ होते हैं जो उन्हें गलत लगती हैं। हालांकि उन्हें यह पसंद नहीं है, फिर भी उन्हें काम के सिलसिले में हमेशा यात्रा करने का अवसर मिलता है। ये कभी शिकायत नहीं करते इसलिए लोग इनसे जुड़े रहना पसंद करते हैं।

प्रेम जीवन और विवाह

उत्तराभाद्र नक्षत्र वाली महिलाओं का वैवाहिक जीवन खुशियों और आनंद से भरा होता है। इन महिलाओं का वैवाहिक जीवन प्रेमपूर्ण और अच्छा होता है क्योंकि ये अपने पतियों की अच्छी देखभाल करती हैं। उत्तराभाद्रपद नक्षत्र मैरिड लाइफ के अनुसार उनके पार्टनर भी उनके व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन को सुचारु रूप से संतुलित करने के लिए उनकी सराहना करते हैं और उनका सम्मान करते हैं। इस नक्षत्र की महिलाएं अच्छी माँ, बहन और बेटियां होती हैं और इसलिए, उनके आसपास पले-बढ़े लोगों में अच्छे गुण होते हैं और वे अच्छी तरह से अनुशासित होते हैं। इसके अलावा, उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र की अनुकूलता पूर्वा-आषाढ़, रेवती और श्रवण नक्षत्र हैं।

करियर

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र के जातकों को उनके दृढ़ संकल्प और कभी हार न मानने वाले रवैये के कारण मनचाही नौकरी मिल जाती है। उनकी प्रतिभा की सराहना की जाती है और उन्हें एक महिला सेना होने के लिए सराहना और बेहतर प्रस्ताव मिलते हैं। वे बहु-कार्य करने में महान हैं, जो उन्हें लाभदायक अवसरों का लाभ उठाने और जीवन में स्थिर बनने की अनुमति देता है। इसके अलावा, वे अपने कार्यालयों में वरिष्ठों के बीच लोकप्रिय है क्योंकि वे अपनी कंपनियों में अच्छे परिणाम लाते हैं। अंत में, उत्तरभाद्रपद नक्षत्र में शुक्र उन्हें व्यापार विश्लेषक, वकील, भक्त और ज्योतिषी जैसे क्षेत्रों में करियर बनता है।

स्वास्थ्य

इस नक्षत्र की महिला जातकों को कोई महत्वपूर्ण स्वास्थ्य समस्या नहीं होती है, लेकिन उन्हें बार-बार जोड़ों के दर्द और मासिक धर्म में ऐंठन का सामना करना पड़ सकता है। उत्तरा भाद्रपद के जिन लोगों का शरीर भारी है उन्हें अपने मेटाबॉलिज्म की जांच करने की जरूरत है। उन्हें पेट की छोटी-मोटी समस्याएं भी हो सकती हैं क्योंकि वे बहुत अधिक जंक फूड खाते हैं। हालांकि उनके शरीर में मौजूद वसा किसी भी स्वास्थ्य समस्या के लिए समर्पित नहीं होगी, फिर भी उन्हें सतर्क रहना चाहिए और स्वस्थ भोजन की आदतों को अपनाना शुरू करना चाहिए।

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में जन्मे व्यक्ति की विशेषताएँ

यहां उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में जन्मे व्यक्ति की विशेषताएं या उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र की विशेषताएं दी गई है जो उन्हें अन्य व्यक्तियों से अलग बनाती है।

  • उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में जन्मे लोग बुद्धिमान और दृढनिश्चयी होते हैं। जीवन में सफलता और स्थिरता पाने के लिए ये किसी भी हद तक जा सकते हैं।
  • ये व्यक्ति सुखी और स्वस्थ जीवन शैली जीते हैं। स्वस्थ जीवन शैली अपनाने से वे हमेशा शांति में रहते हैं।
  • उनके पास महान संचार कौशल है जो उन्हें सार्वजनिक रूप से बोलने में आत्मविश्वासी और महान बनाते हैं।
  • ये जातक बुजुर्गों के प्रति सम्मानजनक होते हैं जो उन्हें पूरे परिवार में सभी चचेरे भाइयों के बीच सबसे प्रशंसित व्यक्ति बनाता है।
  • उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र के जातकों की आमतौर पर अच्छी परवरिश नहीं होती है, जिससे वे बड़े होकर मजबूत और दृढ़निश्चयी व्यक्ति बनते हैं।
  • करियर के मामले में, ये जातक हमेशा केंद्रित रहते हैं और यह तय करते हैं कि उन्हें वह सब मिले जिसका उन्होंने कभी सपना देखा है।
  • जब परिवार के सदस्यों और उनके करीबी लोगों की बात आती है, तो वे हमेशा उनकी मदद करने के लिए तैयार रहते हैं और अपनी सीमा से परे जाकर उन्हें एक अच्छा जीवन प्रदान करते हैं।
  • ये मूल निवासी स्वतंत्र व्यक्ति होते हैं जिन्हें अपनी इच्छानुसार जीवन जीने के लिए किसी की मदद की आवश्यकता नहीं होती है। वे आत्मनिर्भर हैं और हमेशा अपने लिए एक अच्छा जीवन बनाने पर ध्यान केंद्रित करते हैं।
  • उत्तरा भाद्रपद के पुरुषों और महिलाओं का झुकाव बहुत कम उम्र से ही आध्यात्मिकता और धार्मिक प्रथाओं की ओर होता है।
  • उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में जन्मे लोग ईमानदार होते हैं और जब कोई इनके साथ बेईमानी करने की कोशिश करता है तो इन्हें बर्दाश्त नहीं होता।

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र पद

ब्रह्मांड में प्रत्येक नक्षत्र को चंद्रमा की स्थिति के आधार पर चार चरणों में विभाजित किया गया है, और यह लोगों के जन्म समय के अनुसार उनके गुणों को निर्धारित करने में मदद करता है। आइए हम प्रत्येक उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र चरण 4 पर संक्षेप में नजर डालें।

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र पद 1

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में सूर्य एक ग्रह के रूप में इस पद को नियंत्रित करता है। इस पद के लोग तेज दिमाग वाले होते हैं और अपने पिछले अनुभवों से कौशल हासिल करते हैं। उनमें अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए नेतृत्व गुण और दृढ़ इच्छाशक्ति होती है। सिंह नवांश में आने वाले इस पद के जातक लक्ष्य-निर्धारण और लक्ष्य-प्राप्तकर्ता होते हैं।

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र पद 2

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में बुध ग्रह एक ग्रह के रूप में इस पद को नियंत्रित करता है। उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में बुध के साथ केतु की युति व्यक्ति को आध्यात्मिक जीवन जीने में सक्षम बनाती है। यह साझेदारी किसी व्यक्ति को अपने मूल स्वभाव को भूलने पर मजबूर कर सकती है। इस पद के लोग अपना ध्यान शिक्षा के अलावा अन्य चीजों पर केंद्रित करते हैं। उन्हें वैदिक इतिहास और पारंपरिक ग्रंथ पढ़ना पसंद है। कन्या नवांश में आने वाले जातक जीवन में बड़ी उपलब्धियां हासिल करना चाहते हैं।

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र पद 3

इस पद 3 को शुक्र ग्रह नियंत्रित करता है। इस पद के लोग सुव्यवस्थित जीवन जीना चाहते हैं। इसलिए, वे अनुशासित हैं और हर चीज़ पर नज़र रखते हैं ताकि यह तय हो सके कि सब कुछ नियंत्रण में है। वे हमेशा अपने दिन की योजना बनाते हैं और एक शेड्यूल का पालन करना पसंद करते हैं। तुला नवांश में आने पर, वे समय पर अपने लक्ष्यों और उद्देश्यों को प्राप्त करने पर केंद्रित होते हैं।

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र पद 4

उत्तराभाद्रपद नक्षत्र चरण 4 में राहु इसी पद में आता है। राहु और मंगल एक मजबूत जोड़ी हैं और इस पद में पैदा हुए लोगों की ताकत के लिए जिम्मेदार हैं। वृश्चिक नवांश में आने पर, वे साहसी होते हैं और पृथ्वी को बचाने और दुनिया को एक बेहतर जगह बनाने में मदद करने के लिए रहस्यमय गतिविधियों की ओर बढ़ते हैं।

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में विभिन्न ग्रह

  • उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में शुक्र व्यक्ति को आध्यात्मिक बनाता है। इसके अलावा, जातक अपनी आध्यात्मिक रुचि को अपने करियर की संभावनाएं बनाने के इच्छुक होते हैं।
  • उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में बृहस्पति व्यक्ति को अत्यधिक धनवान बनाता है। जातकों को अपने जीवन में विभिन्न स्रोतों से धन आगमन का सामना करना पड़ेगा।
  • उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में राहु के कारण व्यक्ति के अपने साथियों के साथ खराब संबंध हो जाते हैं। इसके अलावा, जातक अपने परिवार के सदस्यों का बहुत अधिक समर्थन और सराहना करने वाले नहीं होंगे।
  • उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में मंगल व्यक्ति को अत्यधिक संगठित व्यक्ति बनाता है। इसके अलावा, व्यक्ति जीवन के प्रति व्यावहारिक दृष्टिकोण भी रखते हैं।
  • उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में सूर्य व्यक्ति को अत्यधिक बौद्धिक प्राणी बनाता है। वे कठिन समस्याओं को हल करने के लिए अपनी बुद्धि का उपयोग करते हैं।
  • उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में चंद्रमा व्यक्ति को बेहद आकर्षक और सुंदर बनाता है। इससे दूसरे लोग उनके व्यक्तित्व और सुंदरता से आसानी से आकर्षित हो जाते हैं।
  • उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में बुध जातक के संचार कौशल को कमजोर बनाता है, जो उनकी सफलता की राह में एक बड़ी बाधा बन सकता है।
  • उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में शनि व्यक्ति को रहस्यवादी स्वभाव का बनाता है। इसके अलावा, जातकों को गुप्त विज्ञान से संबंधित विषयों में भी गहरी रुचि होती है।
  • उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में केतु व्यक्ति को आध्यात्मिक रूप से अत्यधिक इच्छुक और धार्मिक प्रथाओं के बारे में जानकार बनाता है।

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र से संबंधित पौराणिक कथा

हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार, उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र का संबंध मृत्यु के देवता यम से है। तो, एक बार हरिश्चंद्र नाम का एक राजा था जो यम के प्रति समर्पित था और उसने भगवान से जो कुछ भी मांगा था उसे देने का वादा किया था। एक दिन, यम उसके पास आये और उसका राज्य और उसका परिवार माँगा। चूँकि राजा भगवान यम का सच्चा भक्त था, इसलिए उसने उनकी बात मान ली और सब कुछ छोड़ दिया।

हालाँकि, परिणामस्वरूप, राजा और उसके परिवार के पास कुछ भी नहीं बचा और वे जंगल में इधर-उधर भटकने के लिए मजबूर हो गए। जंगल में अपनी यात्रा के दौरान, उनकी मुलाकात विश्वामित्र नाम के एक ऋषि से हुई जो यज्ञ कर रहे थे। ऋषि राजा की मदद करने के लिए सहमत हो गए और उनसे एक सेवक के रूप में उनके लिए काम करने को कहा। राजा और उसके परिवार ने कई वर्षों तक ऋषि की सेवा की। बाद में, यम हरिश्चंद्र की भक्ति से प्रसन्न हुए और उन्हें उनका राज्य और परिवार वापस दे दिया।

तो, उस दिन से, उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र को भक्ति, त्याग और दृढ़ता का प्रतीक माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि इस नक्षत्र के तहत पैदा हुए लोगों में ये गुण होते हैं और कहा जाता है कि वे अच्छे भाग्य के धनी होते हैं।

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में जन्मे प्रसिद्ध व्यक्तित्व

जन्म के समय और विशेषताओं के आधार पर, हमारे पास कई उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र प्रसिद्ध व्यक्तित्व हैं। आइए एक-एक करके उनके बारे में जानें।

  1. मुलायम सिंह यादव
  2. इंदिरा गांधी
  3. रॉबर्ट कैनेडी
  4. रिकी मार्टिन
  5. सैली फील्ड्स
  6. क्रिस्टीना कॉलिन्स हिल्स

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल-

वैदिक ज्योतिष के अनुसार, उत्तरा भाद्रपद बच्चों के नामकरण, वित्तीय निवेश और शादी करने के लिए एक बहुत ही शुभ नक्षत्र है। इस नक्षत्र में जन्म लेने वाले व्यक्ति धार्मिक, बुद्धिमान, पढ़े-लिखे, सम्मानित और आध्यात्मिक होते हैं।
मीन वह राशि है जो उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र के अंतर्गत आती है। मीन राशि में जन्मे लोग मृदुभाषी, विनम्र और अपने मिलने वाले हर व्यक्ति के प्रति उदार होते हैं। उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में सूर्य व्यक्ति को कड़ी मेहनत करने के लिए ऊर्जा और उत्साह देता है, जबकि स्वामी ग्रह शनि उन्हें आध्यात्मिकता की ओर ले जाता है।
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र के व्यक्तियों का आध्यात्मिक गतिविधियों के प्रति अत्यधिक झुकाव होता है और वे वास्तव में उन ऊर्जाओं से बात करके रहस्यमय गतिविधियां सीखते हैं जिन्हें हम नहीं देखते हैं।
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में जन्मे देवता भगवान विष्णु की पत्नी देवी लक्ष्मी हैं। यही कारण है कि इस नक्षत्र में जन्म लेने वाली महिलाएं अपने परिवार के लिए भाग्यशाली मानी जाती हैं और माना जाता है कि वे अपने परिवार में खुशियाँ और धन लाती हैं।
रेवती नक्षत्र में जन्म लेने वाले लोग उत्तरा भाद्रपद के लिए सबसे उपयुक्त होते हैं क्योंकि वे एक-दूसरे की जरूरतों और इच्छाओं को पूरी तरह से समझेंगे। रेवती नक्षत्र में जन्मा व्यक्ति उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में जन्मे व्यक्ति के आध्यात्मिक झुकाव का भी सम्मान करता है।
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र से जुड़े कुछ लोकप्रिय नाम अहीर, भद्र, सुरेश, अंकित, मनीष, मोहित और संजय हैं। ये तो बस कुछ उदाहरण हैं, और भी कई उत्तराभाद्रपद नक्षत्र के नाम हैं।
Karishma tanna image
close button

Karishma Tanna believes in InstaAstro

Urmila  image
close button

Urmila Matondkar Trusts InstaAstro