ज्योतिष में सूर्य गोचर की व्याख्या

ज्योतिषीय दृष्टि से सूर्य गोचर 2023 बहुत ही महत्वपूर्ण और प्रभावशाली है। यदि आपकी चिंताएं सरकारी नौकरियों, सरकारी ठेकों, निविदाओं, करों और लोकप्रियता से संबंधित हैं तो यह गोचर आदर्श समय है और आपके काम और इच्छा सूची को बहुत प्रभावित करता है। यह वर्ष थोड़ा विशिष्ट है क्योंकि 14 जनवरी को सूर्य मकर राशि में प्रवेश करेगा और तीन दिनों के बाद शनि कुम्भ राशि में प्रवेश करेगा। हालांकि हम इस तथ्य से अच्छी तरह वाकिफ हैं कि सूर्य पर शनि का प्रभाव कभी भी बहुत अच्छा नहीं होता है। इसलिए हम सरकार में कुछ अनिश्चितता की उम्मीद कर सकते हैं। आइये इस लेख में जानते हैं सूर्य का गोचर कितने समय तक रहता है? ज्योतिष में सूर्य के गोचर का अर्थ और साथ ही साथ जानेंगे 2023 सूर्य गोचर का प्रभाव सभी राशियों पर कैसा रहेगा?

सूर्य को सरकार की रॉयल्टी का कारक माना जाता है। सूर्य किसी तरह से शनि के प्रभाव में आ जाएगा। यह प्रभाव सरकार को दबाव में ला सकता है।

सूर्य का गोचर कितने समय तक रहता है?

जैसा कि हम जानते हैं कि सूर्य को राज ग्रह माना जाता है। इस प्रकार प्रत्येक ग्रह सूर्य की परिक्रमा करता है। यह एक राशि में 28 दिनों तक रहता है। इस प्रकार प्रत्येक राशि में प्रवेश करने में एक वर्ष का समय लगता है। हालांकि सूर्य गोचर प्रत्येक राशि को उसी राशि के साथ समान रूप से प्रभावित करता है। जिसमें वह है। इसलिए इसका प्रभाव बृहस्पति, मंगल और चंद्रमा पर सकारात्मक है। जबकि यह शुक्र, शनि और राहु-केतु का विरोध करता है।

जब हम ज्योतिष की बात करते हैं तो उसके अनुसार सूर्य में स्वयं अपार शक्ति होती है। इसे सफलता का कारण माना जाता है और यह आपको व्यक्तिगत और पेशेवर रूप से उच्च पदों को प्राप्त करने में मदद कर सकता है।

सटीक भविष्यवाणी के लिए कॉल या चैट के माध्यम से ज्योतिषी से जुड़ें

ज्योतिष में सूर्य के गोचर का अर्थ

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जब हम जन्म कुंडली के प्रभाव को देखते हैं तो इस कुंडली का उपयोग गोचर (हिंदी में पारगमन) का अध्ययन करने के लिए किया जाता है जिस घर में चंद्रमा स्थित होता है। एक राशि में सूर्य पारगमन की अवधि 30 दिनों तक रहती है। हालांकि प्रत्येक राशि चक्र में प्रवेश करने में इसे पूरा एक वर्ष लगता है। 3, 6, 10 और 11 भाव के लग्न में सूर्य गोचर सकारात्मक परिणाम लाता है।

जिस घर में चंद्रमा स्थित है। यदि सूर्य उस भाव में प्रवेश करता है तो व्यक्ति के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। इस अवधि में जातकों को स्वास्थ्य को लेकर परेशानी का अनुभव हो सकता है। दिल से संबंधित समस्या, ब्लड प्रेशर की समस्या, सिरदर्द और दृष्टि संबंधी समस्या हो सकती है।

मान लीजिए आप जानना चाहते हैं कि सूर्य गोचर 2023 आपके जीवन को कैसे प्रभावित करेगा। तब आप अपनी जन्मपत्री और सूर्य पारगमन की अवधि का विस्तृत विश्लेषण प्राप्त कर सकते हैं। इंस्टाएस्ट्रो में आप सर्वश्रेष्ठ ज्योतिषियों से बातचीत कर सकते हैं और अपनी समस्याओं का समाधान प्राप्त कर सकते हैं।

सूर्य गोचर 2023 तारीख और समय

दिनांक और दिनसे पारगमनमें स्थानांतरित हो रहा हैसमय
14th January 2023, Saturdayधनु राशिमकर राशि8:58 अपराह्न
13 फरवरी 2023, सोमवारमकर राशिकुंभ राशि9:57 पूर्वाह्न
15 मार्च 2023, बुधवारकुंभ राशिमीन राशि6:47 पूर्वाह्न
14 अप्रैल 2023, शुक्रवारमीन राशिमेष राशि3:12 अपराह्न
15 मई 2023, सोमवारमेष राशिवृषभ राशि11:58 पूर्वाह्न
15 जून 2023, गुरुवारवृषभ राशिमिथुन राशि6:29 अपराह्न
17 जुलाई 2023, सोमवारमिथुन राशिकर्क राशि5:19 पूर्वाह्न
17 अगस्त 2023, गुरुवारकर्क राशिसिंह राशि1:44 अपराह्न
17 सितंबर 2023, रविवारसिंह राशिकन्या राशि1:43 अपराह्न
18 अक्टूबर 2023, बुधवारकन्या राशितुला राशि1:42 पूर्वाह्न
17 नवंबर 2023, शुक्रवारतुला राशिवृश्चिक राशि1:31 पूर्वाह्न
16 दिसंबर 2023, शनिवारवृश्चिक राशिधनु राशि4:10 अपराह्न

ये वो ग्रह हैं जो राशिफल को प्रमुख रूप से प्रभावित करते हैं। इनमें से कुछ जैसे चंद्रमा और बुध परिस्थितियों में अचानक बदलाव लाते हैं। दूसरी ओर बृहस्पति और शनि का पारगमन प्रभाव किसी भी अन्य ग्रह की तुलना में काफी अधिक समय तक रहता है। इसलिए प्रत्येक राशि में होने वाले ग्रह गोचर को जानना बहुत महत्वपूर्ण है और यह किसी व्यक्ति की जन्म कुंडली के अनुसार उसके जीवन को कैसे प्रभावित करेगा।

आइए विस्तार से जानते हैं कि 2023 सूर्य गोचर का कैसा प्रभाव रहने वाला है और 12 राशियों के लिए उनके उपाय।

सूर्य गोचर 2023 मेष राशि में

मेष राशि के लिए सूर्य एक बहुत ही महत्वपूर्ण ग्रह बन गया है। इसे आपके पंचम भाव का स्वामी बनाया गया है और यह सूर्य गोचर 2023 मेष राशि में दशम भाव में गोचर करेगा। छात्रों, नौकरी के लिए आवेदन करने वाले, अच्छे कॉलेज में जाने के इच्छुक लोगों या सरकारी नौकरी के लिए कड़ी मेहनत करने वालों के लिए यह अवधि बहुत अच्छी है। जब सूर्य आपके 10वें भाव में गोचर कर रहा हो तो ये अवसर आपके लिए आ सकते हैं।

इतना ही नहीं आपकी मानसिक क्षमताएं भी अधिक केंद्रित होंगी। आप अधिक लक्ष्य चालित होंगे। कला मनोरंजन माध्यमों से जुड़े लोग आपके सुर्खियों में आने की संभावना है। सूर्य गोचर 2023 मेष राशि में बहुत ही अच्छे समय के रूप में देखा जा सकता है। इस अवधि में आप जो भी मेहनत करते हैं उसमें आपको पहचान मिलने की पूरी संभावना है।

सूर्य गोचर 2023 वृष राशि में

वृष राशि के लिए सूर्य चौथे भाव का स्वामी है। सूर्य गोचर 2023 वृष राशि में नवम भाव में गोचर करेगा। यह आपके लिए बहुत ही अच्छा समय है। इस गोचर के दौरान की गई यात्रा बहुत ही लाभदायक साबित होगी। यह एक प्रकार का विशिष्ट समय या 'योग' है। जब लोग किसी भी प्रकार की तीर्थयात्रा करेंगे या आपके द्वारा की गई साधना आपके पक्ष में बहुत अधिक साबित होगी। यदि आपका कोई सौदा लंबे समय से अटका हुआ है तो रियल एस्टेट निर्माण से जुड़े लोग सुलझेंगे और आपके पक्ष में आएंगे।

सूर्य गोचर 2023 वृष राशि में अनुकूल रहेगा लेकिन आपको केवल ख़र्चों पर ध्यान देने की ज़रूरत है। अनचाहे खर्चों से बचने का प्रयास करें।

सूर्य गोचर 2023 मिथुन राशि में

सूर्य आपके तीसरे भाव का स्वामी होगा और यह सूर्य गोचर 2023 मिथुन राशि में अष्टम भाव में गोचर करेगा। इसलिए मिथुन राशि के जातकों को अपने विचार व्यक्त करने या किसी भी प्रकार का निर्णय लेने से पहले बहुत सावधान रहने और दो बार सोचने की आवश्यकता है। अगर आप बीमा क्षेत्र में काम कर रहे हैं या बीमा एजेंट हैं तो यह गोचर आपके लिए बहुत फायदेमंद रहेगा। मिथुन राशि के जातक अपनी चीजों की योजना बना सकते हैं और छुट्टी मनाने जा सकते हैं।

आपको पहल करनी चाहिए और अपने जीवन में बदलाव लाना चाहिए। यह वह समय होगा जब आप कठिन मामलों से निपटेंगे। जो चीजें आप लंबे समय से चला रहे थे।

सूर्य गोचर 2023 कर्क राशि में

सूर्य आपके द्वितीय भाव का स्वामी है। इस घर को बहुत ही महत्वपूर्ण घर माना जाता है। यह घर परिवार, वित्त और सुरक्षा से संबंधित है। सूर्य का गोचर 2023 कर्क राशि में सप्तम भाव में प्रवेश करने जा रहे हैं। जीवनसाथी से मदद लेने का यह अच्छा समय है। व्यापार के लिए अच्छा समय है। सूर्य का गोचर 2023 कर्क राशि में के आपको एक संरक्षक, एक निवेशक, एक गाइड या एक भागीदार मिल सकता है जो आपको आवश्यक जानकारी प्राप्त करने में मदद करेगा। जो आपको व्यवसाय में वृद्धि करने में मदद करेगा।

संभावना है कि परिवार का कोई सदस्य सीधे आपकी मदद के लिए आएगा। अगर आप किसी तरह की परेशानी में हैं। उनका मार्गदर्शन और समर्थन आपको इस दौर से बाहर आने में मदद करेगा। इस गोचर में आपका स्वास्थ्य प्रभावित होने की संभावना है। आपके शब्द आपकी छवि एक ऐसे व्यक्ति के रूप में स्थापित कर सकते हैं जो अधिक गौरवान्वित है।

सूर्य गोचर 2023 सिंह राशि में

सिंह राशि के लिए आपका लग्नेश छठे भाव में गोचर कर रहा है। यदि आप एक खराब विवाह में हैं तो अहंकार को शामिल करने पर चीजें वास्तव में अनुपात से बाहर हो सकती हैं। अनावश्यक शक्ति से बचने का प्रयास करें। अपने परिवार के लिए अधिक जिम्मेदारी लेने की कोशिश करें। यदि आप कुछ कर रहे हैं तो आपको उसे पूरा करना होगा। इसलिए जब आप कुछ कर रहे हों तो बहुत सावधान रहें अन्यथा आप कानूनी रूप से पकड़े जाएंगे।

सूर्य गोचर 2023 सिंह राशि में गोचर के दौरान आक्रामक होने के बजाय अधिक रक्षात्मक होने की कोशिश करें। यह वह समय होगा जब अनचाहे लोग आपसे कुछ मांगेंगे। आपको यह समझना होगा कि यह आपका कर्तव्य है या नहीं। लेकिन अगर आपका कर्तव्य है तो आपको करना ही पड़ेगा क्योंकि सूर्य सभी शत्रुओं, सभी कर्तव्यों और सभी जिम्मेदारियों को उजागर करने वाला है। हालांकि शनि का गोचर इस पर भी असर डालने वाला है और लोग आपको जज करेंगे। इसलिए आपको अपने कार्यों में बहुत सावधानी बरतने की आवश्यकता है। आपको अपने वित्त की योजना बनाने की आवश्यकता है।

सूर्य गोचर 2023 कन्या राशि में

कन्या लग्न का सूर्य 12वें भाव का स्वामी है। सूर्य गोचर 2023 कन्या राशि में पंचम भाव में रहने वाला है। तो पंचम भाव में सूर्य गोचर हमें आपके बच्चों और जुनून के प्रति खर्च के बारे में बताता है। इस दौरान आपको अपने दूर के रिश्तेदार से मदद मिलेगी। इस गोचर में आपके भाव विश्वभर में पहुंचेंगे। यदि आप प्रभावशाली हैं, पत्रकारिता में हैं और सच बोलते हैं या किसी सही चीज या न्याय के लिए खड़े हैं तो यह समय आपको बड़ी सफलता और अवसर देगा।

सूर्य गोचर 2023 कन्या राशि में वह चरण होगा जहां मार्गदर्शन होगा और आपके चारों ओर ऊर्जा होगी। ये आपको हादसों और नकारात्मक ऊर्जाओं से बचाएंगे। इसलिए आपको सकारात्मक कर्म करके अपने सकारात्मक स्पंदनों को बढ़ाने की आवश्यकता है। खर्चों में वृद्धि होना तय है इसलिए आपको अपने खर्चों पर नियंत्रण रखने की जरूरत है। ऐसी संभावनाएं हो सकती हैं जब आपको उन जगहों पर पैसा खर्च करना पड़ सकता है जहां आपको खर्च करने में कोई दिक्कत नहीं है।

सूर्य गोचर 2023 तुला राशि में

तुला राशि के लिए सूर्य आपके 11वें भाव का स्वामी है और सूर्य गोचर 2023 तुला राशि में चतुर्थ भाव में जाता है। इसे सबसे खूबसूरत प्लेसमेंट में से एक कहा जा सकता है। यह वह समय है जब आप अपनी आय को अपनी संपत्ति में परिवर्तित कर सकते हैं और यह आपको सलाह दी जाती है। आपका पैसा आपके घर में निवेश हो सकता है और वह आपको परेशान कर सकता है लेकिन चिढ़ने की जरूरत नहीं है। इसलिए यह सबसे अच्छा है कि आप अपने घर पर कुछ पैसे खर्च करें शायद मरम्मत या कुछ ठीक करने के लिए। कोई संपत्ति या संपत्ति खरीदना भी बहुत मददगार हो सकता है। लेकिन किसी को साबित करने के लिए कुछ भी मत करो। यह आपके अपने उपभोग के लिए किया जाना चाहिए। यह आपके या आपके परिवार के उपयोग के लिए होना चाहिए।

जिस क्षण आप अपना अहंकार दिखाने की कोशिश करेंगे या चीजों को प्रदर्शित करने की कोशिश करेंगे तो अधिक शक्ति और अधिक अधिकार वाला व्यक्ति आपको रोक देगा। यदि आप चीजों को दिखाने की कोशिश करेंगे तो आप जो प्रगति सोचेंगे वह नहीं होगी। अन्यथा यह एक अच्छा समय है जब आपके पास उचित अवसर होगा। साथ ही विशेष रूप से करियर और आय के स्रोत से जुड़े अवसर आएंगे। आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और आप अधिक सहज रहेंगे। जब आप अपने करियर के बारे में सोच रहे होते हैं तो आपको कोई ड्रीम जॉब या कोई ड्रीम प्रोजेक्ट मिल सकता है। जिसकी आप लंबे समय से तलाश कर रहे थे। तो आपके करियर और नौकरी के दृष्टिकोण से यह सूर्य गोचर 2023 तुला राशि में बहुत ही लाभदायक है।

सूर्य गोचर 2023 वृश्चिक राशि में

वृश्चिक 10वें भाव पर शासन करता है और सूर्य गोचर 2023 वृश्चिक राशि में तीसरे भाव में जा रहा है। इसका मतलब है कि आपका कर्म आपकी पहल से जुड़ा है। इसलिए आपको अपने करियर में सक्रिय रहने की जरूरत है। ऐसी कुछ स्थितियां हो सकती हैं जब आपके भाई-बहनों को आपके मार्गदर्शन की आवश्यकता हो सकती है। तीसरा भाव संचार का भाव है इसलिए आपको बहुत सावधान रहना चाहिए। आपके शब्द किसी का आत्मविश्वास बढ़ा सकते हैं तो किसी का मनोबल गिरा भी सकते हैं। यदि आप अपशब्द या कठोर शब्दों का प्रयोग करते हैं तो बहुत सावधान रहें। शनि यह सुनिश्चित करेगा कि वे शब्द आपके लिए वापस आएं।

वृश्चिक भी सप्तम भाव में मंगल की उपस्थिति का अनुभव करेगा क्योंकि मंगल आपके लग्नेश का स्वामी है। आप उत्साह से भरे रहेंगे। सूर्य गोचर 2023 वृश्चिक राशि में महसूस करेंगे कि आप ऊर्जा से भरे हुए हैं। साथ ही इस गोचर काल में आपको हर तरह की मदद मिलेगी और आप किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार रहेंगे।

सूर्य गोचर 2023 धनु राशि में

धनु लग्न का सूर्य आपके नवम भाव का स्वामी है और 14 जनवरी से सूर्य दूसरे भाव में रहेगा। 17 जनवरी से तीन ग्रहों सूर्य, शनि और शुक्र की युति होगी सूर्य और शुक्र की युति दूसरे भाव में होगी। यह सदन रास्ते में आने वाले सुधार की बात करता है। इस समय भाग्य आपका साथ देगा और आपको अच्छे लाभ और लाभ की प्राप्ति होगी। आपकी मेहनत रंग लाएगी। अगर आप व्यापार करते हैं तो सूर्य गोचर 2023 धनु राशि में आपके व्यवसाय में अच्छे बदलाव लाएगा। साथ ही यदि आप सेवा में हैं तो यह गोचर आपको नए अवसर देगा। जो भविष्य में आय में वृद्धि का मार्ग प्रशस्त करेगा।

कोई नया रास्ता मिल सकता है जो आपको उच्च वेतन और उच्च पद पर ले जाएगा।

समग्र विकास, जीवन के समग्र विकास के बारे में सोचने का यह एक अच्छा समय है और आपके परिवार में आपकी उपस्थिति निश्चित रूप से आवश्यक होगी। नवम भाव के स्वामी का आपके दूसरे घर में आना यात्रा और पर्यटन से जुड़े लोगों में कुछ वृद्धि और सकारात्मकता हो सकती है।

सूर्य गोचर 2023 मकर राशि में

मकर लग्न का सूर्य आपके अष्टम भाव पर शासन करता है। इसलिए यह आपके पहले घर में प्रवेश करेगा। इसलिए यह व्यक्तित्व के बारे में बात करता है। आपके जीवन या घर में आए बदलाव आपको खुद को बदलने के लिए मजबूर करेंगे। कोई ऐसा बनो जो तुम नहीं हो। व्यक्तित्व में छोटे या बड़े परिवर्तन होंगे। ये आपके लिए शुभ रहेंगे। विरासत आपके पास आएगी। लंबे समय से चली आ रही किसी बात से आपको राहत मिल सकती है। यह वह समय है जब आपको अपने बारे में सोचना है। इसलिए स्वार्थी बनने में तब तक कोई बुराई नहीं है जब तक कि इससे किसी को ठेस न पहुंचे। सूर्य गोचर 2023 मकर राशि में गोचर के दौरान आपका नाम अचानक ऊंचा उठेगा और आप बहुत अधिक लोकप्रिय हो जाएंगे।

तुम उज्जवल बन जाओगे। इसलिए आपको मुस्कुराने की जरूरत है और लोगों के साथ दया और सकारात्मकता से पेश आना चाहिए। सूर्य के प्रथम भाव में आने से आपके क्रोध में वृद्धि हो सकती है। यह आपको एक मानसिकता भी दे सकता है जहां आपको लगता है कि आप दुनिया पर राज कर रहे हैं। इन्हें इस गोचर के कुछ नकारात्मक लक्षणों के रूप में माना जा सकता है।

सूर्य गोचर 2023 कुम्भ राशि में

कुंभ लग्न के लिए सूर्य सप्तम भाव का स्वामी है इसलिए सूर्य की अभिव्यक्ति आपके जीवनसाथी, व्यवसाय, अनुबंध और कानूनी मामलों पर होगी और यह जीवन के संतुलन के बारे में भी बात करता है। सूर्य आपके बारहवें भाव में गोचर कर रहा है। जिसका अर्थ है कि विवाह में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। सूर्य गोचर 2023 कुम्भ राशि में गोचर के दौरान आपके रिश्ते में कुछ चुनौतियां और अलगाव आ सकते है।

व्यापार के आयात-निर्यात से जुड़े लोग या जो अपने व्यापार का विस्तार करना चाहते हैं उनके लिए यह समय अच्छा है। स्थानीय क्षितिज से परे आप एक अच्छा और सकारात्मक बढ़ावा देखेंगे। आपका काम में डूबे रहने का स्वभाव या करियर के लिए ज़रूरी आपकी मौजूदगी सबका ध्यान खींचेगी। आपके निजी जीवन में कुछ समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए आपको सही संतुलन बनाने और कुछ चीजों का त्याग करने की आवश्यकता है। क्योंकि त्याग के बिना संतुलन बिगड़ जाएगा जिससे कुछ समस्याएं पैदा होंगी। वित्त दांव पर होगा, आपको चुनौती दी जाएगी जो आपको मुश्किल में डाल सकती है। लेकिन अगर आप विनम्र हैं तो सूर्य गोचर 2023 कुम्भ राशि में बदलाव बेहद खूबसूरत होगा।

सूर्य गोचर 2023 मीन राशि में

मीन लग्न आपके लिए सूर्य छठे भाव का स्वामी है और 11वें भाव में रहेगा। नई जिम्मेदारियां लेने के लिए यह अच्छा समय है। साथ ही अपने करियर में बदलाव के बारे में सोचने का यह एक अच्छा समय है। सूर्य गोचर 2023 मीन राशि में गोचर की वजह से आपके जीवन और करियर में कुछ सकारात्मक घटित होगा। आय के स्रोत में इस दौरान आपको अधिक लाभ प्राप्त होगा। खासकर यदि लाभ आपके पर्यवेक्षकों, मालिकों और सरकार से आता है।

कुछ कार्य जो अब तक रुके हुए थे अब फलीभूत होंगे। विशेष रूप से मनोकामना पूर्ति की बात करें तो यह अत्यंत लाभकारी रहेगा। सरकारी नौकरी या विदेशी शिक्षा के लिए आवेदन करने वाले जातकों को कुछ अच्छे और सकारात्मक संकेत दिखाई देंगे। जो उनके आत्मविश्वास को बढ़ाने में मदद करेंगे।

लेकिन दूसरी ओर आपको बहुत ही व्यावहारिक होने की आवश्यकता है।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल-

सूर्य एक वर्ष तक सभी 12 राशियों में भ्रमण करता है।
सूर्य कितने समय तक राशि चक्र में रहेगा इसका निर्धारण करने का कोई तरीका नहीं है। सूर्य 29 दिनों में एक राशि पार कर सकता है। हालांकि दुर्लभ मामलों में इसमें 32 दिन तक का समय लग सकता है।
सूर्य जीवन, जीवन शक्ति, उत्साह, स्पष्टता और आत्म-आश्वासन का प्रतीक है। सभी राशियों पर इसका गहरा प्रभाव पड़ता है। इसका प्रभाव सभी के जीवन पर पड़ता है।
पारगमन तब होता है जब अंतरिक्ष में एक वस्तु दूसरे के सामने से गुजरती है।
सूर्य इस समय धनु राशि में हैं।
हां सूर्य पारगमन एक ज्ञात तथ्य है जो कई दशकों से भारत और अन्य देशों में प्रचलित है।
Karishma tanna image
close button

Karishma Tanna believes in InstaAstro

Urmila  image
close button

Urmila Matondkar Trusts InstaAstro