ज्योतिष में गुरु गोचर का परिचय

बृहस्पति गोचर 2023 या गुरु पियार्ची 2023, 22 अप्रैल 2023 को होगा और 1 मई 2024 तक रहेगा। बृहस्पति मेष राशि में गोचर करने जा रहा है। गुरु गोचर 2023 की अवधि एक राशि में एक वर्ष के लिए होती है। हालांकि अलग-अलग चंद्र राशियों पर इसका प्रभाव अलग-अलग होता है। बृहस्पति अप्रैल से मेष राशि में गोचर कर रहा है और यह बृहस्पति की मित्र राशि है।

मंगल मेष राशि पर शासन करता है। गुरू पियार्ची 2023 तारीख के अनुसार मंगल और गुरु मित्र ग्रह माने जाते हैं। तो बृहस्पति एक प्राकृतिक शुभ ग्रह है और इसके मित्र भाव में गोचर करना अधिकांश राशियों के लिए अच्छे परिणाम देगा।

बृहस्पति के आमतौर पर 5वें, 7वें और 9वें स्थान पर तीन भाव होते हैं। अतः अपनी 5वीं दृष्टि से बृहस्पति सिंह राशि को देखेगा, 7वें भाव से तुला राशि को देखेगा और 9वें भाव से गुरु धनु राशि को देखेगा। बृहस्पति दो राशियों धनु और मीन पर शासन करता है। तो आइए विस्तार से पढ़ते हैं कि गुरु गोचर 2023 का सभी 12 राशियों पर कैसा रहेगा प्रभाव।

गुरु गोचर 2023 तारीख और समय

2023 के लिए बृहस्पति गोचर तिथियां:

क्र.सं.बृहस्पति गोचर 2023गुरु पियार्ची 2023 दिनांक
1बृहस्पति का मेष राशि में गोचर22 अप्रैल, 2023

सटीक भविष्यवाणी के लिए कॉल या चैट के माध्यम से ज्योतिषी से जुड़ें

बृहस्पति गोचर 2023 प्रथम भाव में: मेष राशि

पहली राशि मेष है। गुरु प्रथम भाव में गोचर करेगा। यह 5वें, 7वें और 9वें भाव पर दृष्टि डालेगा। पहला भाव मूल रूप से स्वयं, स्वास्थ्य और शरीर को दर्शाता है। बृहस्पति आम तौर पर परिणामों को बढ़ाने के लिए तैयार है। मेष राशि के लिए गुरू गोचर 2023 प्रभाव इंगित करता है कि आप वजन बढ़ा रहे होंगे। यदि आप एक अच्छी काया पाने के इच्छुक हैं तो आपके लिए यह एक सही समय साबित होगा। आपको मांसपेशियों का अच्छा लाभ होगा। बृहस्पति प्रवर्धन का ग्रह है। यह आपके पहले घर में प्रवेश करेगा और एक लाभकारी और मित्र ग्रह है।

गुरु गोचर 2023 के दौरान आपकी काया और अधिक आकर्षक हो जाएगी। इस एक वर्ष में आप विपरीत लिंग के प्रति अधिक आकर्षित होंगे। अगर आप पुरुष हैं तो महिलाओं की तरफ से आपको काफी अटेंशन मिलेगी। जब बृहस्पति प्रथम भाव में गोचर कर रहा है तो आपको अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए। ऐसे में कोई बड़ी समस्या नहीं होगी। पांचवां घर प्यार के लिए है। आपके प्रेम संबंध या यदि आप किसी रिश्ते में जा रहे हैं तो यह बेहतर होंगे।

अगर आपकी शादी की योजना है तो इसके बारे में सोचने का यह सबसे अच्छा समय है। आपके माता-पिता और उनके माता-पिता भी विवाह के लिए तैयार होंगे। सभी की ओर से स्वीकृति मिलेगी। कुल मिलाकर परिणाम अच्छे रहेंगे। दांपत्य जीवन में सामंजस्य रहेगा। व्यापार में भी अच्छा लाभ होगा। यदि आप नई संपत्ति खरीदना चाह रहे हैं तो यह आदर्श समय है।

बृहस्पति गोचर 2023 12 वें भाव में: वृषभ

दूसरी राशि जिसमें बृहस्पति गोचर करने जा रहा है वह है वृषभ। गुरू गोचर 2023 12वें भाव में वृष राशि में गोचर कर रहा है। यह चौथे, छठे और आठवें भाव पर दृष्टि डालेगा। वृषभ राशि वालों के लिए यह गोचर सकारात्मक गोचर नहीं होगा। 12वां भाव हानि, मृत्यु या अप्रत्याशित यात्रा को दर्शाता है। यात्रा पर व्यय में वृद्धि हो सकती है। आप अपने जीवनसाथी के साथ कुछ छोटी अवधि की यात्रा की उम्मीद कर सकते हैं। यहां आपके पास कुछ अच्छी गुणवत्ता का समय होगा।

गुरू गोचर प्रभाव आपके जीवन पर यह रहेगा कि आपके गोचर के अनुसार लंबी दूरी की या आपको मजबूरी में यात्रा करनी होगी। आपको या तो किसी नए स्थान पर जाने के लिए मजबूर होना पड़ेगा या कोई अप्रत्याशित विदेश यात्रा हो सकती है। यदि आप एक विदेशी देश में हैं तो आप अपने मूल स्थान पर वापस आ जाएंगे। जैसे अगर आप विदेश में हैं और कोई नौकरी कर रहे हैं तो संभावना है कि आप अपने मूल स्थान पर वापस आ सकते हैं। यह एक मजबूर यात्रा या एक अप्रत्याशित यात्रा हो सकती है।

आपका स्वास्थ्य खराब हो सकता है या संभावना है कि आप कुछ अप्रत्याशित चूक के बारे में सुन सकते हैं। यह वह समय है जब आपको पूरे साल अपने वित्त को बहुत सावधानी से संभालना होगा। अप्रत्याशित हानि भी हो सकती है। चतुर्थ भाव आपके परिवार, घर या माता का होता है। घर में कुछ अप्रत्याशित बदलाव हो सकते हैं। वहीं छठे भाव की बात करें तो यह शत्रुओं का भाव है। इसलिए कार्यक्षेत्र में प्रतिद्वंदियों से आपको बेहद सावधान रहने की जरूरत है। प्रतिस्पर्धियों से बेहद सावधान रहें। पूरे पारगमन के दौरान आपको शांत और तैयार रहने की आवश्यकता है।

बृहस्पति गोचर 2023 11वें भाव में: मिथुन

तीसरी राशि है मिथुन जिसमे गुरु गोचर करेगा। गुरू गोचर 2023 11वें भाव में मिथुन राशि में गोचर करेगा। यह गोचर आपको सकारात्मक परिणाम देगा। यह गोचर सभी राशियों के लिए 22 अप्रैल 2023 को होगा। बृहस्पति तीसरे, पांचवें और सातवें भाव पर दृष्टि डालेगा। चूंकि बृहस्पति 11वें भाव से गोचर कर रहा है। इसलिए यह देखा गया है कि लोगों के साथ आपका संपर्क या नेटवर्क काफी हद तक बढ़ेगा और विस्तारित होगा। इसके अलावा आपको इन संबंधों के माध्यम से बढ़ने के कई मौके मिलेंगे। दूसरे शब्दों में आप इन लोगों से अच्छी खबर की उम्मीद कर सकते हैं और कौन जानता है? आपको किसी बहुप्रतीक्षित पदोन्नति या मूल्यांकन की खबर भी मिल सकती है।

आपके संपर्क आपकी उत्पादकता बढ़ाने में आपकी मदद करेंगे। व्यवसाय संबंधी यात्रा हो सकती है। आप कई पार्टियों की मेजबानी कर रहे होंगे। इस संक्रमण काल में पारिवारिक मेल मिलाप होगा। इस गोचर के दौरान आपके नाम और कीर्ति में वृद्धि होगी। इसके अलावा बृहस्पति के तीसरे भाव पर दृष्टि पड़ने से भाई-बहनों के साथ आपका स्नेह बढ़ेगा। आपके और आपके भाई-बहनों के बीच संबंध अच्छे रहेंगे। आपकी क्षमताओं में सुधार होगा।

इस गोचर के दौरान आप कुछ नया करने की कोशिश करेंगे। पंचम भाव प्रेम, प्रस्ताव और विवाह का होता है। इसलिए यदि आप शादी करने की सोच रहे हैं या योजना बना रहे हैं तो यह गोचर आपके पक्ष में रहेगा। सप्तम भाव विवाह और रिश्तों से संबंधित होता है। तो विवाह के लिए कुछ प्रस्ताव आपको दिखाई देंगे। बिजनेस पार्टनर के साथ संबंध अच्छे रहेंगे। आपकी अच्छी साझेदारियां होंगी। यदि आप शादी करने की योजना बना रहे हैं तो आप किसी अमीर परिवार से कुछ प्रस्तावों की उम्मीद कर सकते हैं। आपका जीवनसाथी एक स्थापित परिवार से होगा। कॉरपोरेट जॉब में प्रमोशन के आसार हैं। आपको आपके पर्यवेक्षक से अच्छी प्रतिक्रिया मिलेगी। कुल मिलाकर यह गोचर आपके लिए बहुत सकारात्मक है।

बृहस्पति गोचर 2023 10वें भाव में: कर्क

चौथी राशि है कर्क जिसमे बृहस्पति गोचर करेगा। बृहस्पति दशम भाव से गोचर करेगा। यह दूसरे, चौथे और छठे भाव पर दृष्टि डालेगा। कर्क राशि में गुरू गोचर 2023 दशम भाव में होने के दौरान आपके कार्य जीवन को बेहतर बनाने में मदद करेगा क्योंकि दशम भाव करियर को दर्शाता है। बृहस्पति ने विस्तार का संकेत दिया है। इस गोचर के दौरान काम में वृद्धि होगी और आपको काम में विस्तार देखने को मिलेगा। आपकी नौकरी से आपके कार्य में अधिक परियोजनाएं होंगी। अगर आप व्यापार करते हैं तो आपके व्यापार का भी विस्तार होगा। जो लोग ऑफिस में काम कर रहे हैं। उनके लिए आप जिन प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहे हैं उनमें वृद्धि होगी। आपकी परियोजनाओं की समीक्षा की जाएगी और सकारात्मक होगी। पर्यवेक्षक आपके काम से प्रसन्न रहेंगे।

गुरु गोचर 2023 दशम भाव में गोचर के दौरान आपकी मेहनत पर ध्यान दिया जाएगा। आपको काम के कारण अच्छा लाभ होगा। आप इस गोचर के दौरान मूल्यांकन की उम्मीद कर सकते हैं। व्यापार से जुड़े जातकों के लिए काम अधिक रहेगा। व्यवसाय में विस्तार के अवसर मिलेंगे। आप अपने कार्यस्थल पर अधिक समय व्यतीत करेंगे। खुद को उलझाने की कोशिश करें और मौके को सकारात्मक तरीके से लें। कर्क राशि का दूसरा भाव वित्त के लिए है। आपका वित्त बेहतर हो जाएगा। इस अवधि में स्थिरता रहेगी। आप अच्छे धन प्रवाह की उम्मीद कर सकते हैं।

चौथा भाव परिवार, माता-पिता या घर का होता है। अत: घर में विस्तार के योग बनते हैं। आप किसी बेहतर जगह या बड़े घर में शिफ्ट हो सकते हैं। मेलजोल या पारिवारिक मेलजोल होगा। कुल मिलाकर आपका समय अच्छा बीतेगा। छठे भाव पर शत्रुओं के घर के रूप में बृहस्पति की दृष्टि है और बृहस्पति विस्तार का प्रतीक है। इसलिए आपको अपने प्रतिस्पर्धियों या प्रतिद्वंद्वियों से सावधान रहने की आवश्यकता है।

बृहस्पति गोचर 2023 9वें भाव में: सिंह

सिंह अगली राशि है। यह मूल रूप से सूर्य द्वारा शासित है। सूर्य और बृहस्पति दोनों उग्र ग्रह होने के कारण मित्र हैं। सिंह राशि में गुरू गोचर 2023 नवम भाव में होने से इस गोचर के दौरान हम कुछ सकारात्मक प्रभाव जातकों पर पड़ने की उम्मीद कर सकते हैं। सिंह राशि के जातकों के लिए गुरु नवम भाव में गोचर करने जा रहा है। यह पहले, पांचवें और आठवें भाव पर दृष्टि डालेगा। सिंह राशि के जातकों के लिए यह गोचर बहुत सकारात्मक और महत्वपूर्ण है। जैसा कि हम जानते हैं बृहस्पति को गुरु के रूप में जाना जाता है और हम बृहस्पति गोचर को गुरु गोचर कहते हैं। अतः गुरु नवम भाव से गोचर कर रहा है। यह उच्च शिक्षा, घर या संपत्तियों के लिए है। इसलिए इस गोचर के दौरान जो मूल निवासी घर या नई संपत्ति खरीदने के इच्छुक हैं उनके लिए यह आदर्श समय है। आपका कर्ज आसानी से मंजूर हो जाएगा। यदि आप किसी निर्माण परियोजना से जुड़े हैं तो आपकी परियोजना जल्द ही पूरी होगी।

इस अवधि में आप कार्यस्थल पर अपने आकाओं या पर्यवेक्षकों से अच्छे मार्गदर्शन की उम्मीद कर सकते हैं। विद्यार्थी अच्छे अंक प्राप्त करेंगे। उच्च शिक्षा के लिए आवेदन करने के लिए यह समय आदर्श है। नौकरी में लोग मूल्यांकन का अनुभव करेंगे। पदोन्नति के भी योग हैं। मूल निवासी सीखेंगे और अपनी परियोजना के बारे में अच्छी जानकारी रखेंगे। व्यवसाय से जुड़े लोग अच्छी वृद्धि और विस्तार का अनुभव करेंगे। बृहस्पति गोचर का प्रभाव जातकों के लिए सकारात्मक है। पहला भाव भाई-बहनों के संबंधों से संबंधित है। जिससे भाई-बहनों के साथ आपके संबंध अच्छे रहेंगे। आप भाई-बहनों के साथ साझेदारी की उम्मीद भी कर सकते हैं। पांचवां घर बच्चों के लिए है। आपके बच्चे अच्छा प्रदर्शन करेंगे।

आठवां भाव अचानक हानि या लाभ का भाव है। लेकिन बृहस्पति एक सकारात्मक ग्रह है। अतः यह गोचर सकारात्मक रहेगा। इसलिए मूल निवासी सकारात्मक बदलाव की उम्मीद कर सकते हैं। व्यापार में अचानक लाभ की उम्मीद कर सकते हैं। इस गोचर के दौरान अच्छी चीजें होने वाली हैं। इस गोचर के बाद आप कुछ कदम ऊपर होंगे। कुल मिलाकर यह गोचर आपके और आपके परिवार के लिए लाभकारी रहेगा।

बृहस्पति गोचर 2023 8वें भाव में: कन्या राशि

यहां हम बात कर रहे हैं कन्या राशि की। बुध कन्या राशि पर शासन करता है। बृहस्पति और कन्या इतने अनुकूल नहीं हैं। वे एक दूसरे के प्रति तटस्थ हैं। गुरु गोचर 2023 वैदिक ज्योतिष के अनुसार गुरु अष्टम भाव से गोचर करेगा। हम इतने सकारात्मक परिणाम की उम्मीद नहीं कर सकते। आठवां भाव उदासी, गोपनीयता और दुर्घटना भाव को दर्शाता है। इस गोचर से कुछ हानि हो सकती है। यह ग्रह दूसरे, सातवें और बारहवें भाव पर दृष्टि डालेगा। सप्तम भाव जीवनसाथी, संबंध या साझेदारी के लिए होता है। ऐसे में आप कुछ अप्रत्याशित चीजें होने की उम्मीद कर सकते हैं। साझेदारियों को समाप्त करने के लिए आपको भागीदारों से नोटिस प्राप्त हो सकते हैं। कुछ उतार-चढ़ाव हो सकते हैं। आपको अपनी सेहत के प्रति बेहद सावधान रहने की जरूरत है।

बहुत ध्यान देने की आवश्यकता होगी। जातकों के लिए व्यवसाय या नौकरी में अचानक गिरावट आ सकती है क्योंकि दूसरा भाव वित्त का प्रतिनिधित्व करता है। आपको आय के प्रवाह में रुकावटें मिल सकती हैं। आपकी आर्थिक स्थिति प्रभावित हो सकती है। इस अवधि के दौरान आपको किसी प्रकार का निर्णय लेने के बारे में सोचने और धैर्य रखने की आवश्यकता है। इस गोचर के दौरान आपको किसी भी प्रकार की कमी या नकारात्मक समाचार के लिए तैयार रहने की आवश्यकता है।

गुरू गोचर 2023 आठवें भाव में है तो इस गोचर के दौरान आपको अपने स्वास्थ्य के साथ-साथ अपने परिवार के स्वास्थ्य का भी ध्यान रखना चाहिए। इस गोचर के दौरान आपको अपने परिवार के स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा। यह कठिनाइयों का समय है और आपको इस दौरान बहुत शांत रहने और सकारात्मक रहने की आवश्यकता है।

बृहस्पति गोचर 2023 7वें भाव में: तुला राशि

बृहस्पति तुला राशि के 7वें भाव में गोचर करेगा। यह पहले, तीसरे और 11वें भाव पर दृष्टि डालेगा। बृहस्पति तीसरे और छठे भाव का स्वामी है। यह गोचर 22 अप्रैल 2023 से होगा। हालांकि यह पूर्ण गोचर एक वर्ष के लिए होगा। तुला राशि वालों के लिए लाभदायी रहेगा। यह पूर्ण परिवर्तन विवाह का संकेत देता है। सातवें भाव में यह गोचर विवाह के लिए है। अगर आप इस साल शादी करने के इच्छुक हैं तो यह एक अच्छी शाही शादी होने वाली है।

आप कुछ अच्छे मैचों की भी उम्मीद कर सकते हैं। व्यापार से जुड़े जातक इसमें कुछ बड़ी तरक्की की उम्मीद कर सकते हैं। जीवनसाथी के साथ आपके संबंध अच्छे रहेंगे। जीवनसाथी के साथ आप क्वालिटी टाइम बिताएंगे। जीवन साथी के साथ कोई छोटी यात्रा या अवकाश हो सकता है।

गुरू गोचर 2023 7वें भाव में है तो इस गोचर के दौरान आप अपने भाई-बहनों से अच्छे लाभ की उम्मीद कर सकते हैं। आपके भाई बहन आपका पक्ष लेंगे। आप अपनी संपत्तियों पर कुछ अच्छी कीमतों में बढ़ोतरी की भी उम्मीद कर सकते हैं। भाई-बहनों के साथ आपका रिश्ता और मजबूत होगा। आपके व्यापारिक भागीदारों के साथ कुछ उपयोगी बैठकें होंगी। साथ ही अपने व्यवसाय में विस्तार की उम्मीद करें। व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए यात्रा की उम्मीद है। कुल मिलाकर यह एक सकारात्मक गोचर है।

बृहस्पति गोचर 2023 छठे भाव में: वृश्चिक

वृश्चिक राशि पर मंगल का शासन है। मंगल और गुरु दोनों ही मित्र ग्रह हैं। लेकिन जिस घर में यह ग्रह गोचर कर रहा है वह सकारात्मक परिणाम नहीं दे सकता है। गुरु बृहस्पति के छठे भाव में गोचर कर रहा है। यह 10वें, 12वें और दूसरे भाव पर दृष्टि डालेगा। बृहस्पति आपके दूसरे और पांचवें भाव का स्वामी है।

दूसरा घर वित्त, कमाई और बचत के लिए है। वहीं 5वां भाव संतान, फोकस और लंबे संबंधों का होता है। इस गोचर के दौरान ये सभी प्रभावित हो सकते हैं। छठा भाव प्रतियोगियों या शत्रुओं का घर है। कार्यक्षेत्र में आपको बेहद सावधान रहने की जरूरत है। इस अवधि में आपकी सेहत में थोड़ी गिरावट आ सकती है। दफ्तर में आपके सहकर्मी सहयोगी नहीं रहेंगे। आपके मूल्यांकन में देरी हो सकती है। इस अवधि के दौरान वित्त प्रभावित होगा।

गुरू गोचर 2023 छठे भाव में होने से आपको कोई तेज बीमारी हो सकती है। दूसरों से शत्रुता बढ़ेगी। परिश्रम अधिक रहेगा तथा शारीरिक सक्रियता बढ़ेगी। यह समय अनुभव से सीखने का है। आपको कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है और आपके काम में बाधा आ सकती है। लेकिन आपको अपना आपा खोने की ज़रूरत नहीं है। इस गोचर के दौरान आपको शांत रहकर साहस और पराक्रम दिखाना होगा। यह गोचर आपको और अधिक शक्तिशाली बनाएगा।

बृहस्पति गोचर 2023 5वें भाव में: धनु

धनु राशि के लिए गुरु गोचर 2023 पंचम भाव में से होकर गोचर करने जा रहा है। यह बहुत ही सकारात्मक गोचर रहने वाला है। इसलिए यह 9 वें, 11वें और पहले भाव पर दृष्टि डालेगा। बृहस्पति पहले और चौथे भाव पर शासन करेगा। जो मूल निवासी बच्चों के लिए योजना बना रहे थे। उनके लिए योजना बनाने का यह आदर्श समय है। आपको पितृत्व का वरदान प्राप्त होगा।

धनु राशि के जिन जातकों के संतान हुई है। वे संतान की प्रगति से प्रसन्न रहेंगे। जिन लोगों के मन में किसी के लिए स्नेह या प्रेम है। उनके लिए इस स्नेह के बारे में बताने का यह आदर्श समय है। अपने क्रश के प्रति प्यार का इजहार करने का यह एक अच्छा समय है। आपके लिए यह समय बहुत अच्छा रहेगा।

दोस्तों के साथ बिताने के लिए आपके पास अच्छा समय होगा। कई मिलन समारोह या पार्टियां होंगी जिनमें आप शामिल होंगे। आपको अच्छा लाभ मिलेगा। इसलिए आपके पास अपने पर्यवेक्षक के साथ अच्छा समय होगा। उनका मार्गदर्शन आपके काम आएगा। आपके घर में शांतिपूर्ण वातावरण रहेगा। आप अपने परिवार के साथ काफी समय बिताएंगे।

बृहस्पति गोचर 2023 चौथे भाव में: मकर राशि

22 अप्रैल 2023 से गुरु मकर राशि के चतुर्थ भाव में गोचर करेगा। चौथा घर परिवार, घर और संबंध के लिए है। इस भाव से माता-पिता और जीवनसाथी के साथ संबंध देखे जाते हैं। मूल रूप से चौथा घर आपकी मां के साथ आपके बंधन को निर्दिष्ट करता है। इस घर से उनके स्वास्थ्य को देखा जा सकता है। इस गोचर के दौरान आपको पारिवारिक संपत्ति की प्राप्ति होगी। बहुत कुछ अच्छा हो रहा होगा। आप अपने परिवार के साथ बहुत अधिक समय बिताएंगे। घर में एकाग्रता अधिक रहेगी।

बृहस्पति की दृष्टि 8वें, 10वें और 12वें भाव पर होगी। जैसे-जैसे आप घर पर अधिक समय बिताएंगे आपका काम प्रभावित होगा। आप अपने काम पर कम समय व्यतीत करेंगे। इससे नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। संतुलन बनाने की जरूरत है।

गुरु गोचर 2023 चतुर्थ भाव में यह गोचर आपके लिए चीजों को बेहतर बनाने के लिए आया है। अगर आप साहस दिखाने और चीजों को संतुलित करने में सक्षम हैं तो यह गोचर आपके लिए अच्छा रहेगा। बृहस्पति आपके तीसरे और 12वें भाव पर शासन कर रहा है। आपको सावधान रहने की आवश्यकता है क्योंकि तीसरा भाव हानि का भाव है। भाई-बहनों के साथ आपके संबंध प्रभावित होंगे। झड़प हो सकती हैं। आपको अपने बंधन हटाने की जरूरत है। यह गोचर आपको अपने व्यक्तिगत और पेशेवर जीवन में संतुलन बनाना सिखाता है।

बृहस्पति गोचर 2023 तीसरे भाव में: कुंभ राशि

कुंभ राशि के लिए गुरु गोचर 2023 तीसरे भाव में से होकर गोचर कर रहा है। यह 7वें, 9वें और 11वें भाव पर दृष्टि डालेगा। ये सभी सकारात्मक भाव है और इस प्रकार सकारात्मक परिणाम देंगे। बृहस्पति 11वें और दूसरे भाव पर शासन कर रहा है। ये सकारात्मक लाभ देंगे। 11वां घर लाभ का घर है। धन का प्रवाह अच्छा रहेगा।

यह गोचर आपके भाई-बहनों को भी सकारात्मक लाभ देगा। भाई-बहनों के साथ संबंध बेहतर होंगे। इस गोचर में अपने भाई-बहनों और परिवार के साथ संबंध बनाने पर ध्यान केंद्रित किया जाता है। सभी का भरपूर स्नेह और प्यार मिलेगा। आपके अंदर आत्मविश्वास देखने को मिलेगा और साहस और पराक्रम दिखेगा।

सहकर्मियों और मित्रों के साथ आपका समय अच्छा बीतेगा। आपके पास हर जगह से बहुत सारे निमंत्रण होंगे। आपका वित्त स्थिर हो जाएगा। आप निरंतर वृद्धि देखेंगे। कार्यस्थल पर आप पर कार्यभार बढ़ेगा।

बृहस्पति गोचर 2023 दूसरे भाव में: मीन

मीन राशि के लिए गुरु गोचर 2023 दूसरे भाव में से होकर गोचर करेगा। यह ग्रह दसवें और पहले भाव पर शासन करेगा। यह छठे, आठवें और दसवें भाव पर दृष्टि डालेगा। मीन राशि के जातकों के लिए यह बहुत ही सकारात्मक गोचर है। आपके आर्थिक धन प्रवाह में वृद्धि होगी। प्रमोशन का मौका मिल सकता है। व्यापार से जुड़े लोग के लिए उनकी आय में वृद्धि होगी। इस गोचर के दौरान आप बहुतायत की उम्मीद कर सकते हैं।

आपको किसी तरह की आर्थिक समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। आपके पास सब कुछ आसानी से आ जाएगा। आपके और आपके जीवनसाथी दोनों के लिए पदोन्नति होगी। परिवार में सभी के लिए अच्छा समय है। कारोबार में विस्तार होगा और अगर आप ऑफिस के कर्मचारी हैं तो आप पर काम का बोझ बढ़ेगा। अपनी प्रतिभा दिखाने का अच्छा समय है। इस गोचर के दौरान आपको भरपूर सहयोग मिलेगा।

आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। खुद को संवारने का यह एक आदर्श समय है। आप अपनी काया को बनाए रखने के लिए खुद पर पैसा खर्च करेंगे। आपके व्यक्तित्व में निखार आएगा। आप ज्यादा अट्रैक्टिव लगेंगे। नया घर खरीदने के योग हैं। कुल मिलाकर यह गोचर मीन राशि के जातकों के लिए बेहद अनुकूल है।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल-

पहली राशि मेष है। गुरु प्रथम भाव में गोचर करेगा। यह 5वें, 7वें और 9वें भाव पर दृष्टि डालेगा। पहला भाव मूल रूप से स्वयं, स्वास्थ्य और शरीर को दर्शाता है। बृहस्पति आम तौर पर परिणामों को बढ़ाने के लिए तैयार है। मेष राशि के लिए बृहस्पति गोचर 2023 इंगित करता है कि आप वजन बढ़ा रहे होंगे। यदि आप एक अच्छी काया पाने के इच्छुक हैं तो आपके पास यह सही समय है। आपको मांसपेशियों का अच्छा लाभ होगा। बृहस्पति प्रवर्धन का ग्रह है। यह आपके पहले घर में प्रवेश करेगा और एक लाभकारी और मित्र ग्रह है।
बृहस्पति गोचर 2023 या गुरु पियार्ची 2023, 22 अप्रैल 2023 को होगा और 1 मई 2024 तक रहेगा। बृहस्पति मेष राशि में गोचर करने जा रहा है। गुरु गोचर की अवधि एक राशि में एक वर्ष के लिए होती है। हालांकि अलग-अलग चंद्र राशियों पर इसका प्रभाव अलग-अलग होता है। बृहस्पति अप्रैल से मेष राशि में गोचर कर रहा है और यह बृहस्पति की मित्र राशि है।
बृहस्पति का गोचर मेष राशि में होगा।
मीन राशि के लिए गुरु दूसरे भाव से गोचर करेगा। यह ग्रह दसवें और पहले भाव पर शासन करेगा। यह छठे, आठवें और दसवें भाव पर दृष्टि डालेगा। मीन राशि के जातकों के लिए यह बहुत ही सकारात्मक गोचर है। आपके आर्थिक धन प्रवाह में वृद्धि होगी। प्रमोशन का मौका मिल सकता है। व्यापार से जुड़े लोगों के लिए उनकी आय में वृद्धि होगी। इस गोचर के दौरान आप बहुतायत की उम्मीद कर सकते हैं।
मंगल मेष राशि पर शासन करता है। मंगल और गुरु मित्र ग्रह माने जाते हैं। तो बृहस्पति एक प्राकृतिक शुभ ग्रह है और इसके मित्र भाव में गोचर करना अधिकांश राशियों के लिए अच्छे परिणाम देगा।
Karishma tanna image
close button

Karishma Tanna believes in InstaAstro

Urmila  image
close button

Urmila Matondkar Trusts InstaAstro