पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र चंद्रमा का 20वां नक्षत्र है। इसे ‘जल नक्षत्र’ और ‘अदृश्य तारा’ के रूप में जाना जाता है। यह जातकों में लड़ने की भावना और कभी हार न मानने वाला रवैया लाता है। ‘पूर्वाषाढ़ा’ शब्द का अर्थ है ‘जिसे हराया न जा सके’। शुक्र - ग्रह स्वामी, और अपस (पवित्र जल की देवी) - देवता, सुंदरता और होप लाते हैं।

इसके अलावा, पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र प्रगति, निरंतरता, साहस और सकारात्मकता सहित महिला विशेषताओं से जुड़ा है। यह लोगों में ज्ञान और जागरूकता फैलाने के लिए एक मार्गदर्शक प्रकाश प्रज्वलित करता है। पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र को पूरदम नक्षत्र के नाम से भी जाना जाता है।

2024 में पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र के लिए आवश्यक तिथियां

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र के जातकों के लिए 2024 की कुछ महत्वपूर्ण तिथियां इस प्रकार हैं

तारीखसमय शुरूअंत समय
बुधवार, 10 जनवरी 202407:42 शाम, 10 जनवरी05:37 शाम , 11 जनवरी
बुधवार, 7 फरवरी 202406:29 सुबह, 07 फरवरी04:34 सुबह , 08 फरवरी
मंगलवार, 5 मार्च 202404:03 शाम, 05 मार्च02:50 शाम , 06 मार्च
सोमवार, 1 अप्रैल 202411:12 रात, 01 अप्रैल10:49 शाम , 02 अप्रैल
सोमवार, 29 अप्रैल 202404:49 सुबह , 29 अप्रैल04:42 सुबह , 30 अप्रैल
रविवार, 26 मई 202410:36 सुबह , 26 मई10:13 सुबह , 27 मई
शनिवार, 22 जून 202405:54 शाम , 22 जून05:03 शाम , 23 जून
शनिवार, 20 जुलाई 202402:55 रात , 20 जुलाई01:49 सुबह , 21 जुलाई
शुक्रवार, 16 अगस्त 202412:44 दोपहर, 16 अगस्त11:49 सुबह , 17 अगस्त
गुरुवार 12 सितंबर 202409:53 रात , 12 सितंबर09:35 शाम , 13 सितंबर
गुरुवार, 10 अक्टूबर 202405:15 सुबह, 10 अक्टूबर05:41 सुबह , 11 अक्टूबर
बुधवार, 6 नवंबर 202411:00 रात , 06 नवंबर11:47 सुबह , 07 नवंबर
मंगलवार, 3 दिसंबर 202404:42 शाम, 03 दिसंबर05:15 शाम , 04 दिसंबर
सोमवार, 30 दिसंबर 202411:57 शाम, 30 दिसंबर12:03 सुबह , 01 जनवरी

सटीक भविष्यवाणी के लिए कॉल या चैट के माध्यम से ज्योतिषी से जुड़ें

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र की विशेषताओं के लिए जिम्मेदार आवश्यक पहलू

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र के कुछ महत्वपूर्ण पहलुओं में शामिल हैं:-

पहलूविशेषताएं
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र स्वामी ग्रहशुक्र
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र राशि चिन्हधनु
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र लिंगमहिला
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र चिन्हहाथी का दांत, पंखा/उखाने वाली मशीन जो अनाज को भूसी से अलग करती है
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र स्वामीअपास (पवित्र जल की देवी)
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र गणमनुष्य
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र गुणराजाओं
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र शुभ पत्रबी और जी
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र भाग्यशाली रत्नडायमंड
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र शुभ रंगकाला
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र शुभ अंक6
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र तत्ववायु
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र पशु-पक्षीनर बंदर और शुका (तोता)

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र राशि या राशि चिन्ह

हम अक्सर पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र के बारे में सोचते हैं कि कौन सी राशि है? इस नक्षत्र में लोगों का जन्म तब होता है जब चंद्रमा की स्थिति धनु नक्षत्र में 13:20 - 26:40 के बीच होती है। पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र राशि या राशि चिन्ह धनु है, जैसा कि पहले ही उल्लेख किया गया है। वे मूल और उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में आने वाले धनु राशि के लोगों से भिन्न होते हैं।

वे अजेय व्यक्ति हैं। वे बहादुर हैं और चुनौतियां लेने से कभी नहीं डरते। वे परिस्थितियों के अनुकूल ढल सकते हैं और लचीले होते हैं। धनु राशि को सर्वोच्च शक्ति में विश्वास के प्रतीक के रूप में भी जाना जाता है। पूर्वा आषाढ़ नक्षत्र को तमिल में पूरदम नक्षत्र कहा जाता है।

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र पुरुष लक्षण

यहां पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र के पुरुष जातकों की विस्तृत विशेषताएं और व्यवहार दिया गया है:

भौतिक विशेषताएं

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र के पुरुष जातक दुबले-पतले शरीर वाले होते हैं और वे कद में ऊँचे हैं। उनके दांत सुंदर और साफ होते हैं। इनके लंबे कान और भुजाएं भी होती हैं। उनकी आकर्षक उपस्थिति को बढ़ाने के लिए उनके पास तीव्र, सुंदर आँखें और नैरो कमर हैं।

व्यक्तित्व एवं विशेषताएँ

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र के पुरुष जातक अत्यंत आत्मविश्वासी व्यक्ति होते हैं। वे अच्छे सलाहकार हैं, लेकिन उन्हें सलाह लेना पसंद नहीं है। उनके पास मजबूत राय है और वे किसी भी कीमत पर उन्हें नहीं बदलते हैं। वे प्रभुत्वशाली और लॉजिकल होते हैं।

उनके पास उच्च बुद्धि और तेज दिमाग है और वे खुद को अपने साथियों से बेहतर मानते हैं। वे चीजों को सहज भाव से तय करते हैं और तथ्यों पर विचार नहीं करते। वे अपने साहस और बहादुरी का दिखावा करते हैं, लेकिन समय आने पर अपने डर के पीछे छुप जाते हैं। वे जल्दबाजी में कार्य करते हैं और फायदे-नुकसान पर विचार किए बिना फैसला लेते हैं।

करियर

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में पुरुष जातकों का करियर सुचारू रहता है। वे जो भी पेशा चुनते हैं उसमें उन्हें सफलता मिलती है। इनके एक सफल डॉक्टर बनने की अच्छी संभावनाएं होती हैं। बिजनेस लाइन एक जोखिम भरा करियर क्षेत्र है क्योंकि उन्हें एक भरोसेमंद टीम नहीं मिल पाएगी।

अन्य पेशे जिन्हें वे सफलतापूर्वक अपना सकते हैं उनमें वकील, शिक्षक, लेखक, नाविक, व्यापारी, यात्रा और फिल्म निर्देशक शामिल हैं।

संपत्ति

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में पुरुष जातकों की संपत्ति पर्याप्त होती है। 50 वर्ष की आयु के बाद उनके पास धन संचय होने की संभावना होती है। उनके बैंक बैलेंस से उनके बच्चों को लाभ होगा। वे अपने परिवार को उच्च जीवन स्तर दे सकेंगे।

वैवाहिक जीवन

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र वैवाहिक जीवन में शुभ संकेत देता है। इस नक्षत्र के पुरुष जातक देर से शादी करते हैं। वे लंबे समय तक अपने कुंवारे जीवन का आनंद लेते हैं। शादी के बाद इनका अपनी पत्नियों के साथ रिश्ता मधुर रहता है।

यदि उनके पास गृहिणी है तो वे प्यारे और सभ्य होते हैं। वे एक-दूसरे के प्रति कोई प्रयास नहीं करते। वे प्रवाह के साथ चलते हैं। समय के साथ उनका एक-दूसरे के प्रति प्यार बढ़ता ही जाता है। अंत में यह कहा जा सकता है कि उनका वैवाहिक जीवन सुखी है।

अनुकूलता

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र की अपने माता-पिता के साथ अनुकूलता उतनी अच्छी नहीं होती। वे उनके साथ सम्मानजनक संबंध रखते हैं। हालांकि, उन्हें अपने ससुराल वालों से अधिक लगाव होता है। वे अपने भाई-बहनों के साथ बहुत अच्छा रिश्ता साझा करते हैं।

पुरुष जातक और उनकी पत्नियाँ एक मैत्रीपूर्ण बंधन साझा करते हैं और प्यार और समझ में समय लगता है। विवाह के मामले में ये रेवती नक्षत्र के जातकों के साथ सबसे अनुकूल रहेंगे।

स्वास्थ्य

इस नक्षत्र के पुरुष जातकों का स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। बस कोई छोटी-मोटी सर्दी, खांसी या चोट रहेगी। हालांकि वे स्वस्थ दिखेंगे और उन्हें शायद ही किसी डॉक्टर के पास जाना पड़े, लेकिन वे अंदर से तनावग्रस्त होंगे।

वे सोचेंगे कि वे अस्वस्थ हैं। जीवन के उत्तरार्ध में उन्हें किसी असाध्य रोग से पीड़ित होने की संभावना रहती है। लेकिन वे इसकी वजह से अपने कार्य प्रदर्शन से कभी समझौता नहीं करेंगे।

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र स्त्री लक्षण

यहां पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र की महिला जातकों की विस्तृत विशेषताएं और समग्र व्यवहार दिया गया है:

भौतिक विशेषताएं

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र की महिला जातक अविश्वसनीय रूप से खूबसूरत होती हैं, उनके भूरे बाल और गोरा रंग है। उनके पास दुबला शरीर और लंबी, आकर्षक नाक हैं। उनकी खूबसूरत आंखें और आकर्षक लुक पुरुषों का ध्यान तुरंत खींच लेते हैं।

व्यक्तित्व एवं विशेषताएँ

इस नक्षत्र की महिला जातक ऊर्जा से भरपूर होती हैं और किसी भी चुनौती का सामना करने और उसे जीतने के लिए तैयार रहती हैं। वे चतुर और उच्च बुद्धि वाले होते हैं। वे बेहद महत्वाकांक्षी होते हैं और किसी भी संगठन में शीर्ष पद पर काम करते हैं। वे अत्यधिक योग्य हैं और अकादमिक पुरस्कार प्राप्त कर चुके हैं।

वे तार्किक होते हैं और किसी भी चीज़ पर निर्णय लेने से पहले स्थिति के फायदे और नुकसान का विश्लेषण करते हैं। वे सही के लिए खड़े होते हैं और इसके बारे में बोलने से कभी नहीं डरते, चाहे किसी को यह पसंद हो या नहीं। उन्हें जानवरों से बहुत प्यार है और वे योजनाएं और वादे तो करते हैं लेकिन उन्हें पूरा करने में असफल रहते हैं। उनमें दृढ़ इच्छाशक्ति होती है और वे सच बोलते हैं।

करियर

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में महिला जातकों के करियर जीवन के बारे में जानना दिलचस्प है। वे स्कूल में होशियार और बुद्धिमान छात्रों की श्रेणी में आते हैं। वे अत्यधिक योग्य हैं और उनका करियर प्रतिष्ठित है।

अपने शुरुआती 20 वर्षों में, वे आध्यात्मिक संबंध तलाशने के लिए यात्रा करना और तीर्थयात्रा करना चाहेंगे। एक बार जब वे वापस आ जाएंगे, तो वे किसी भी क्षेत्र में अत्यधिक प्रतिस्पर्धी होंगे और दूसरों से ऊपर चुने जाएंगे। चूंकि वे शैक्षणिक रूप से इच्छुक और पढ़े-लिखे हैं, इसलिए शिक्षक, कॉलेज प्रोफेसर, निवेश बैंकर और आईएएस अधिकारी उनके करियर के क्षेत्र हैं।

संपत्ति

महिला जातक परिवार में अच्छा धन लेकर आती हैं। उनके पास अपनी इच्छा अनुसार कोई भी चीज खरीदने के लिए पर्याप्त पैसा है। उनके पास प्रतिष्ठित करियर है और कुछ को यह एहसास नहीं होता है कि क्या वे अतिरिक्त धन घर लाते हैं। धन के मामले में इस नक्षत्र की महिला जातकों के योगदान से उनके परिवार वाले संतुष्ट रहते हैं।

वैवाहिक जीवन

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में स्त्री का वैवाहिक जीवन बिल्कुल उत्तम रहता है। यदि वे गृहिणी बनना चुनते हैं, तो वे अपने घरों को अच्छी तरह से प्रबंधित करेंगे। हालांकि, यदि वे कामकाजी हैं, तो उनके साथी घर का भार समान रूप से साझा करेंगे। पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में प्रेम जीवन एक निश्चित उम्र के बाद ही प्रगाढ़ होगा या इसमें प्रेम शामिल होगा। महिला जातक और उनके पति एक-दूसरे को समझने में अपना अच्छा समय लगाएंगे।

अनुकूलता

महिला जातकों के साथ पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र की अनुकूलता अद्वितीय है। वे अपने परिवारों के करीब नहीं हैं क्योंकि वे आमतौर पर पढ़ाई या काम के सिलसिले में अपने घरों से दूर रहते हैं।

हालांकि, वे अपने पति और ससुराल वालों के साथ खुश हैं। समय के साथ उनकी अनुकूलता, प्यार और समझ में सुधार होता है। विवाह के मामले में, वे रेवती नक्षत्र के जातकों के साथ सबसे अच्छी अनुकूलता साझा करेंगे।

स्वास्थ्य

महिला जातकों का स्वास्थ्य ठीक-ठाक देखा गया है। पुरुष जातकों की तरह, वे स्वस्थ दिखते हैं लेकिन अंदर से अस्वस्थ महसूस करते हैं। 40 के बाद उन्हें किसी लाइलाज बीमारी से पीड़ित होने की भी संभावना रहती है। इसके अलावा उन्हें गर्भाशय और जांघों से जुड़ी समस्याएं भी हो सकती हैं।

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र पद

वैदिक ज्योतिष में, प्रत्येक नक्षत्र को लोगों के जीवन को समझने और बेहतर जानकारी प्राप्त करने में मदद करने के लिए चार चरणों में विभाजित किया गया है। आइए पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र के प्रत्येक पद पर नजर डालें।

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र पद 1

इस पद के मूल निवासी अपने कंधों पर शान से चलते हैं। सिंह नवांश में जन्मे, वे अपनी उपलब्धियों के लिए खुद से बेहद प्यार करते हैं। वे ध्यान का केंद्र बनना चाहते हैं, इसलिए पहचाने जाने के लिए भरपूर प्रयास करते हैं। पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में सूर्य इस पद का स्वामी है, जो जातकों को आत्मविश्वास और विश्वास देता है।

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र पद 2

इस पद के जातकों से कहा गया है कि यदि वे कड़ी मेहनत करेंगे तो ही उन्हें वित्तीय सफलता और शीर्ष-स्तरीय पद प्राप्त होंगे। कन्या नवांश में जन्मे, पेशेवर कार्यों पर ध्यान केंद्रित किया गया है। पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में बुध इस पद का स्वामी है, जो जातकों को सुरक्षा प्राप्त करने के लिए प्रेरित करता है।

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र पद 3

इस पद के जातकों को विलासिता और आराम का उपहार दिया जाता है। उनके पास पीढ़ीगत संपत्ति है और वे काम करते हैं और इसे जोड़ते हैं। तुला नवांश में जन्मे लोग आर्थिक रूप से मजबूत होने का लाभ उठाएंगे। पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में शुक्र नक्षत्र का स्वामी है और उसने इस पद के लोगों पर सकारात्मक ऊर्जा और धन की वर्षा की है।

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र पद 4

इस पद के मूल निवासी रहस्यमय गतिविधियों में शामिल हैं और माना जाता है कि उन्होंने आध्यात्मिक ज्ञान प्राप्त कर लिया है। वृश्चिक नवांश में जन्मे लोग संदिग्ध, रहस्यमयी और गुप्त दिखाई देते हैं। पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में मंगल नक्षत्र का स्वामी है, जो इस पद के लोगों को स्वयं के प्रति आश्वस्त और जागरूक बनाता है।

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में विभिन्न ग्रह

आइए एक नजर डालते हैं कि पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में स्थित होने पर विभिन्न ग्रह क्या प्रभाव डालते हैं। ये इस प्रकार हैं:

  • पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में शुक्र व्यक्ति को अत्यधिक बौद्धिक और ज्ञानवान बनाता है। इसके साथ ही जातक बहुत अच्छे बातचीत में भी माने जाते हैं।
  • पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में बृहस्पति व्यक्ति को बहुत बुद्धिमान बनाता है। वे सबसे अच्छे सलाहकार माने जाते हैं जिनके पास कोई भी व्यक्ति मुसीबत के समय में जा सकता है।
  • पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में राहु जातकों को अत्यधिक असंतुष्ट प्राणी बनाता है। जातक हमेशा अधिक की चाहत रखेंगे और जो उनके पास पहले से है उससे वे कभी खुश या संतुष्ट नहीं होंगे।
  • पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में मंगल व्यक्ति को अत्यधिक देखभाल करने वाला स्वभाव बनाता है। इसके अलावा, व्यक्ति जिन लोगों की वे देखभाल करते हैं, उनके लिए उनका पोषण करने वाला स्वभाव भी विकसित होता है।
  • पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में सूर्य व्यक्ति को थोड़ा अहंकारी और आक्रामक स्वभाव का बना देता है।
  • पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में चंद्रमा जातकों को अत्यधिक रचनात्मक और कलात्मक प्राणी बनाता है।
  • पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में बुध जातक को बहुत अच्छा सलाहकार बनाता है। लोग किसी भी चिंता के मामले में सलाह लेने के लिए मूल निवासियों की ओर रुख करेंगे।
  • पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में शनि व्यक्ति को अत्यधिक परिश्रमी बनाता है। जातक अपनी कड़ी मेहनत के दम पर सब कुछ हासिल करेंगे।
  • पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में केतु व्यक्ति को अनुसंधान-आधारित प्रोजेक्ट में गहरी रुचि देता है। जातकों को शोध करना पसंद होगा और वे इसे अपने करियर के रूप में भी अपना सकते हैं।

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र प्रसिद्ध व्यक्तित्व

नीचे पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में जन्मी कुछ प्रसिद्ध हस्तियों का उल्लेख किया गया है। आइए उन पर एक नजर डालें:

  1. एडॉल्फ हिटलर
  2. मेल गिब्सन
  3. अर्नेस्ट हेमिंग्वे
  4. डस्टिन हॉफमैन
  5. ऐश्वर्या राय
  6. करिश्मा कपूर
  7. जॉन मेजर

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में जन्मे लोगों की ताकत और कमजोरियां

प्रत्येक व्यक्ति के व्यक्तित्व गुणों में ताकत और कमजोरियां होती हैं। यह ध्यान रखना दिलचस्प है कि यह पिंडो के प्रभाव में भी होता है।

ताकत

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में जन्म लेने वाले लोग आकर्षक और अच्छे दिखने वाले होते हैं। दूसरे लोग अक्सर उनसे नज़रें नहीं हटा पाते। वे तेज दिमाग वाले होते हैं और हर कोई उन्हें पसंद करता है। वे बुद्धिमान होते हैं और अपने काम में बहुत मेहनत करते हैं।

वे कभी-कभी ज़रूरत के समय एक साथ कई कार्य संभालते हैं। उनका धैर्य, कड़ी मेहनत और ईमानदारी उन्हें मूल्यवान कर्मचारी बनाती है। वे विनम्र और नम्र हैं. उन्हें जंक फूड और बड़े रेस्तरां के महंगे व्यंजन पसंद नहीं है।

इसके बजाय, वे घर पर स्वस्थ भोजन का आनंद लेते हैं। वे सच्चे और सत्य की खोज करने वाले होते हैं। वे स्वभाव से कलात्मक होते हैं। वे पेंटिंग, मिट्टी के बर्तन आदि के माध्यम से चीजें बनाते हैं। वे सादा जीवन जीने में विश्वास करते हैं।

हालांकि, पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में राहु उच्च शिक्षा की ओर ले जाएगा, विशेषकर आध्यात्मिक पहलुओं में। वे परिस्थितियों के अनुकूल ढल सकते हैं और कभी चिड़चिड़े नहीं होते। उनके कार्य और योगदान उन्हें प्रभावशाली शख्सियत बनाते हैं। लोग उनके कार्यों से प्रेरणा लेते हैं। वे पेशेवर और व्यक्तिगत रूप से अच्छे प्रबंधक हैं। वे भरोसेमंद और सहयोगी हैं। वे साहसी निर्णयों से कभी पीछे नहीं हटते।

कमजोरियां

इस नक्षत्र के जातकों को अपने आप पर बहुत गर्व होता है कि वे कभी भी किसी की सलाह सुनने के लिए तैयार नहीं होते हैं। पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में केतु उन्हें उच्च ज्ञान प्राप्त करने के लिए जुनूनी बना सकता है। वे मानसिक ज्ञान या रहस्यमय जानकारी की तलाश में बहुत अधिक व्यस्त हो सकते हैं, जो एक अच्छा संकेत नहीं है। क्रोध आने पर वे ऊंचे स्वर में बोलते हैं। वे मजबूत नेतृत्व वाले और कठोर होते हैं।

कई बार उनकी राय बदलना मुश्किल हो जाता है। वे अधिकारवादी और अहंकारी होते हैं और अक्सर इमैच्योर व्यवहार करते हैं। वे अपने बारे में बहुत ऊँचा सोचते हैं और उनमें श्रेष्ठता की भावना होती है। जब उन्हें कम पर संतोष करना पड़ता है तो वे बेचैन हो जाते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल-

हां, पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र के चौथे चरण में जन्म लेने वाले लोग दुनिया से कट जाते हैं और गुप्त रूप से आध्यात्मिक या रहस्यमय गतिविधियों का उपयोग करके उत्तर ढूंढते हैं।
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में जन्मे लोगों की देवी अपाह या आपस होती है। उन्हें स्वर्गीय जल की देवी के रूप में भी जाना जाता है। यह पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र के जातकों में कभी हार न मानने और प्रवाह के साथ चलने की प्रवृत्ति लाता है।
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र राशि या राशि चक्र, धनु है। इस नक्षत्र में लोगों का जन्म तब होता है जब चंद्रमा की स्थिति धनु राशि में 13:20 - 26:40 के बीच होती है।
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में जन्मे लोगों को अपने जीवनकाल में कम से कम एक बार भारत के तमिलनाडु में तिरुवैयारू के पास कडुवेली गांव में स्थित ‘अक्षयपुरीश्वरर मंदिर’ के दर्शन करने चाहिए। इसमें प्रकाश की ऊर्जा है जो पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र को लाभ पहुंचाती है। जातकों को शांतिपूर्ण जीवन के लिए प्रसाद चढ़ाना चाहिए, फूल चढ़ाने चाहिए और पूजा करनी चाहिए।
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र व्यक्ति के लिए शुभ होता है। पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में जन्म लेने वाला व्यक्ति बुद्धिमत्ता, दृढ़ संकल्प, लड़ने की भावना और अच्छे रूप से संपन्न होता है।
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र के शुभ अक्षर बी और जी, शुभ अंक 6, शुभ रंग काला और शुभ रत्न हीरा है। यदि पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र उन्हें अपने जीवन में प्रयोग करता है तो यह उनके लिए शुभ रहेगा।
Karishma tanna image
close button

Karishma Tanna believes in InstaAstro

Karishma tanna image
close button

Urmila Matondkar Trusts InstaAstro