ज्योतिष में शनि गोचर का महत्व

शनि गोचर 2023 कुंभ राशि में होगा। शनि पारगमन अवधि एक राशि में 2.5 वर्ष की होती है। शनि 17 जनवरी 2023 को कुंभ राशि में प्रवेश करेगा और यह 2025 तक कुंभ राशि में ही रहेगा। यह एक लंबा गोचर होने वाला है। शनि मकर राशि से निकलकर कुंभ राशि में प्रवेश करेगा। कुम्भ शनि की अपनी राशि है। मूल रूप से शनि की दो राशियां होती हैं मकर और कुम्भ। लेकिन कुंभ राशि को शनि का कार्यालय माना गया है।

कुंभ राशि का 11वां घर लक्ष्यों, सपनों और करियर का घर माना जाता है। कुंभ राशि बहुत ही दार्शनिक राशि मानी जाती है। इसलिए इस राशि की अपनी विचारधाराएं हैं और उसी का अनुसरण करती हैं। उनके लिए अपनी विचारधाराओं को बदलना बहुत मुश्किल होता है और जब हम उनके काम के कार्यक्रम के बारे में बात करते हैं। जैसा कि हम जानते हैं कि कुंभ राशि शनि का कार्यालय है। इसमें समय की पाबंदी होनी चाहिए। आइये जानते हैं अभी राशियों में शनि गोचर 2023 प्रभाव कैसा रहेगा?

शनि पारगमन 2023 के बारे में

शनि अपनी कार्यालय राशि में लौट रहा है। जो कड़ी मेहनत, समर्पण और मानवता को दर्शाता है।शनि पारगमन अवधि के दौरान शनि के कुम्भ राशि में प्रवेश करते ही यह जातक के जीवन में कई बदलाव लाएगा। इस दौरान गोचर से जुड़े विचार पूरे होने वाले हैं। शनि के स्वराशि में आने से शनि और कुंभ दोनों में सकारात्मक बदलाव देखने को मिल सकते हैं। हम चाहेंगे कि आप चीजों को गंभीरता से लें और उन चीजों से बचें जो किसी काम की नहीं है। ऐसी स्थितियां हो सकती हैं जहां आप चीजों को अधिक परिपक्व और गंभीरता से लेते हुए देखे जा सकते हैं। आप अपने जीवन के लक्ष्यों के प्रति अधिक गंभीर रहेंगे।

शनि अपने लिए 7वें, तीसरे और 10वें भाव को देखता है। अगले 2.5 सालों तक इन सक्रिय भावों पर शनि पारगमन अवधि 2023 का प्रभाव देखने को मिलेगा। हालांकि शनि चाहता है कि हम अपनी ऊर्जा को इस तरह से लगाएं कि हम उसका सही इस्तेमाल करें। यह हमारे स्वभाव को प्रभावित करेगा और इस प्रकार हमें आक्रामक बना देगा। शनि गोचर चाहेंगे कि आप जीवन के प्रति अधिक व्यावहारिक बने।

शनि गोचर तिथियांँ:

2023 के लिए शनि गोचर की तारीखें नीचे दी गई हैं।

शनि गोचर 2023पिंड खजूर।
शनि गोचर 2023 कुंभ राशि में17 जनवरी 2023

शनि गोचर 2023 मेष राशि में

हम देख सकते हैं कि इस गोचर के दौरान शनि 11वें भाव में है। यह पहले घर जहां राहु की स्थित है, पांचवें घर और आठवें घर को देखता है। अतः मेष राशि के जातकों के लिए शनि गोचर 2023 मेष राशि में बहुत ही लाभकारी रहेगा। इस अवधि के दौरान हम लोगों को उनके दीर्घकालिक लक्ष्यों, सपनों और इच्छाओं पर काम करते हुए देखेंगे। जातक अपने जीवन और करियर के प्रति सही निर्णय ले सकते हैं। वे तय कर सकते हैं कि उनके लिए क्या अच्छा है और क्या उनके पक्ष में नहीं हो सकता है।

मेष राशि के जातकों को अपने जीवन से अनचाहे संबंधों को काटते हुए देखा जा सकता है। वे अपने कनेक्शन फ़िल्टर करें। ये बेकार और अवांछित सभाओं से बचेंगे। इस राशि के लोग जीवन के प्रति बहुत व्यावहारिक और उनकी विचारधाराओं के रूप में देखे जाएंगे क्योंकि राहु भी पहले भाव में स्थित है। मेष राशि के जातकों के लिए यह अवधि महत्वपूर्ण होगी क्योंकि राहु और शनि दोनों ही अपने पहले भाव पर अपना प्रभाव दिखाएंगे। अक्टूबर 2023 तक मेष राशि वालों के स्वास्थ्य और सुख पर बहुत प्रभाव पड़ेगा। शनि गोचर 2023 मेष राशि पर अत्यधिक प्रभाव डालेगा।

मेष राशि के जातकों को अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए क्योंकि राहु और शनि दोनों ही आपके स्वास्थ्य पर अपना प्रभाव दिखाएंगे। इस गोचर के दौरान अपेक्षित विरासत से संबंधित लाभ होंगे। इस गोचर के दौरान कुछ निवेश आपको भविष्य में मदद करेंगे।

सटीक भविष्यवाणी के लिए कॉल या चैट के माध्यम से ज्योतिषी से जुड़ें

शनि गोचर 2023 वृष राशि में

वृष राशि के लिए शनि एक ‘योग कारक’ है। यह दसवें घर में एक अनुकूल ग्रह है। शनि दशम भाव की तरह 12वें, चौथे और 7वें भाव की अपेक्षा करता है। राहु बारहवें भाव में है। शनि 12वें भाव की अपेक्षा कर रहा है और 7वें भाव की भी अपेक्षा कर रहा है। ये रिश्तों में समस्या पैदा कर सकते हैं और जीवनसाथी के स्वास्थ्य में समस्याएं हो सकती हैं क्योंकि हम देख सकते हैं कि मंगल भी शनि के साथ सप्तम भाव पर विचार कर रहा है। शनि गोचर 2023 वृष राशि में विशेष रूप से आपके और आपके साथी के बीच संचार मतभेद और स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं पैदा कर सकता है।

जातकों को अपने रिश्तों के मामले में बहुत सावधान रहना होगा। काम और करियर के मामले में शनि आपको अधिक मेहनत करवा सकता है। यह एक बहुत ही परिपक्व और सुलझे हुए व्यक्ति की छवि भी देगा। इसके साथ ही राहु और शनि दोनों ही चतुर्थ भाव की अपेक्षा कर रहे हैं। यह घर संपत्ति, अचल संपत्ति और घरों से संबंधित है। तो यहां भी वृषभ राशि के जातक जीवन में अशांति की उम्मीद कर सकते हैं। घर में अतिरिक्त सावधानी बरतने की कोशिश करें। इस गोचर के दौरान संपत्ति या अचल संपत्ति से संबंधित किसी भी सौदे से बचें।

मान लीजिए कि वृष राशि के जातकों में से कोई भी जल्द ही शादी के बंधन में बंधने के बारे में सोच रहा है। फिर इस गोचर के दौरान वे ऐसा होने की उम्मीद कर सकते हैं क्योंकि हम देख सकते हैं कि बृहस्पति और शनि 7वें घर की अपेक्षा कर रहे हैं। इसलिए यह गोचर शादी करने के लिए लाभदायक और अनुकूल हो सकता है। इस साल अक्टूबर तक जातकों को सावधान रहने की जरूरत है।

शनि गोचर 2023 मिथुन राशि में

मिथुन राशि के जातकों के लिए शनि 7वें भाव में और राहु 11वें भाव में है।शनि गोचर 2023 मिथुन राशि में गोचर के दौरान मूल निवासी अपनी विचारधारा और दर्शन में बदलाव की उम्मीद कर सकते हैं। जीवन में कुछ नए संबंध और नए दृष्टिकोण मिल सकते हैं। आप अधिक दार्शनिक हो सकते हैं। इस गोचर के दौरान आप अपनी महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने के लिए काफी मेहनत करेंगे। आप जो चाहते हैं उसे पाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी। जिसमें मेहनत लगेगी।

यदि आप चाहते हैं कि भाग्य आपका साथ दे तो आपको चीजों को धीमे प्रोसेस से करना चाहिए और कड़ी मेहनत करनी चाहिए। आपको अपने प्यार और लव लाइफ के लिए मेहनत करनी पड़ेगी। अपनी महत्वाकांक्षाओं, सपनों और लक्ष्यों के लिए अन्य कनेक्शनों और नेटवर्किंग के साथ काम करके किस्मत का निर्माण किया जा सकता है। आपको ऐसा महसूस हो सकता है कि तेज हवा सब कुछ उड़ा ले जा रही है क्योंकि राहु और शनि दोनों ही पवन ग्रह हैं।

गोचर के शुरुआती दिनों में चीजें आपके पक्ष में नहीं हो सकती हैं। इस गोचर का प्रभाव आपके भाई-बहनों पर भी पड़ेगा क्योंकि इस गोचर के दौरान शनि भाई-बहनों के तीसरे भाव में गोचर करेगा। क्योंकि यह गोचर उन्हें और अधिक मेहनत करने के लिए मजबूर करेगा। इसका असर उनके साथ आपके रिश्ते पर भी पड़ सकता है। उनसे अपने रिश्ते को मजबूत बनाए रखने के लिए आपको अधिक प्रयास करने होंगे। इस गोचर के दौरान मूल निवासी कुछ कठिन समय की उम्मीद कर सकते हैं।

शनि गोचर 2023 कर्क राशि में

कर्क राशि के जातकों के लिए यह गोचर अष्टम भाव में होगा। इस गोचर के दौरान राहु दसवें भाव में रहेगा। यह गोचर प्यार और सहयोग लेकर आएगा। इसलिए यह आपको कई तरह से सपोर्ट करेगा। कुछ जातकों के लिए यह परेशानी भरा हो सकता है। यह अशांति भी पैदा कर सकता है और आपके करियर को प्रभावित कर सकता है। इस गोचर के दौरान आप अपने करियर को लेकर बेचैनी महसूस कर सकते हैं। यह चुनौतीपूर्ण समय जून तक रहेगा। जून के बाद स्थिति बेहतर होगी।

शनि गोचर 2023 कर्क राशि में आपको अपने कार्यस्थल पर चीजों को बेहतर ढंग से व्यवस्थित करने में मदद करेगा। अपनी नौकरी पर आप एक समय में तीन से अधिक चीजों को संभाल रहे होंगे। जिसके लिए आपको अधिक प्रयास करने की आवश्यकता है। आपके दिमाग में बहुत सारी योजनाएँ हैं। लेकिन आपको अतिरिक्त प्रयास करने और चीजों को अधिक उपयुक्त रूप से व्यवस्थित करने की आवश्यकता है। नतीजतन आपको कहीं न कहीं जरूरत पड़ सकती है और वांछित परिणाम मिल सकते है। गोचर के शुरुआती कुछ महीनों के बाद कार्यक्षेत्र में की गई मेहनत का फल आपको मिलेगा।

इस गोचर के दौरान आप अपने पैसों का प्रबंधन बहुत अच्छी तरह से कर सकते हैं। आपको किसी विरासत में मिली संपत्ति, बैंकिंग या बीमा से धन प्राप्त होगा। लोन की तलाश कर रहे लोगों के लिए यह एक अवसर पाने का सही समय है। यह गोचर ऋण क्रेडिट और वित्त में सुधार का वादा करता है। आप बदले हुए रवैये पर काम करते हुए नजर आएंगे। आप अधिक परिपक्व भी होंगे। जैसा कि हम जानते हैं कि शनि आपको बाद में फल देता है। अत: इस अवधि में किया गया कोई भी निवेश या परिश्रम भविष्य में उसका परिणाम देगा।

शनि गोचर 2023 सिंह राशि में

सिंह राशि के लिए शनि सप्तम भाव में है और राहु नवम भाव में है। इसलिए हम अक्टूबर तक आपके पिता के स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ने की उम्मीद कर सकते हैं। इसके अलावा आपका आपके शिक्षक या गाइड के साथ कुछ अनबन हो सकती है। शनि भी चौथे घर की उम्मीद कर रहा है। यह आपकी मां, घर और परिवार का घर है। ये भी नकारात्मक रूप से प्रभावित हो सकते हैं। लेकिन आप इस गोचर के दौरान संपत्ति जैसी चीजों के सकारात्मक होने की उम्मीद कर सकते हैं।.

शनि गोचर 2023 सिंह राशि में लोगों के साथ आपका संबंध प्रभावित होगा क्योंकि शनि सप्तम भाव की अपेक्षा करता है। यह सिर्फ शादी के बारे में नहीं है बल्कि यह भी है कि आप लोगों से कैसे जुड़ते हैं। आप अपने दर्शन और विचारधारा में बड़े बदलाव की उम्मीद कर सकते हैं। आप सीमित लोगों से जुड़ेंगे। कुछ बदलावों को काट दिया जा सकता है या अवांछित कनेक्शन से बचा जा सकता है। आप जीवन भर के रिश्तों या बंधनों को देखेंगे।

सिंह राशि के जातकों को अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने की उम्मीद है क्योंकि इस गोचर के दौरान वे स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से निपट सकते हैं। चूंकि शनि आपके दर्शन के नवम भाव को प्रभावित करने वाला है। आप ऐसी स्थिति में हो सकते हैं जहां आप अपनी परंपराओं, संस्कृति और मूल्यों पर संदेह करने लगेंगे। अपने पिता या गुरु के साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिताने की कोशिश करें।

शनि गोचर 2023 कन्या राशि में

शनि छठे भाव में है और राहु आठवें भाव में रहेगा। छठे भाव में शनि आपके शत्रुओं, दोषों और नकारात्मकताओं के प्रति आपके दृष्टिकोण को दर्शाता है। छठा भाव रोगों से भी संबंधित है। क्योंकि कन्या राशि के जातकों के लिए मई तक कुछ उतार-चढ़ाव की उम्मीद की जा सकती है। इस गोचर के दौरान ऐसी परिस्थितियां आ सकती हैं जब आपको बहुत परिपक्व होना होगा। इसलिए इस गोचर के दौरान आपका रवैया बेहद शांत रहने की जरूरत है क्योंकि इससे आपको परिस्थितियों से निपटने में ही मदद मिलेगी। यह शनि गोचर 2023 कन्या राशि में अन्य राशियों की तुलना में बेहतर है।

म्यूचुअल फंड, बीमा और बैंकिंग से ऋण मिलने की संभावना है। शुरुआती दिनों में आप कुछ अशांति, उतार-चढ़ाव की उम्मीद कर सकते हैं। लेकिन अक्टूबर के बाद चीजें पटरी पर आने लगेगी। कुछ ऐसी स्थितियां हो सकती हैं जो आपको बुरी या नकारात्मक लग सकती हैं लेकिन ऐसा नहीं है। इसलिए चीजों और स्थितियों से शांति और परिपक्वता से निपटना बेहतर है।

शनि गोचर 2023 तुला राशि में

तुला राशि के लिए शनि का प्रभाव पंचम भाव, सप्तम भाव और एकादश भाव पर पड़ रहा है। करियर में बदलाव हो सकते हैं। आप अपना जीवन पथ भी बदल सकते हैं। आपको बेहतर पद की प्राप्ति हो सकती है। यह गोचर आपके और आपके जीवनसाथी के बीच संबंधों को प्रभावित कर सकता है। साथ ही स्वास्थ्य संबंधी परेशानी भी हो सकती है। इस गोचर के दौरान ग्रहों की स्थिति अधिक अनुकूल हो सकती है। यह आपकी महत्वाकांक्षाओं, सपनों और इच्छाओं के लिए बहुत चुनौतीपूर्ण रहेगा। यह गोचर आपके लिए अपने सपनों और लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए चुनौतीपूर्ण होगा।

शनि आपसे अपनी मेहनत में वृद्धि की उम्मीद कर रहा है। ग्रह के अनुसार आपको अपने कौशल और ज्ञान को और अधिक निखारना चाहिए। आप कुछ नया सीखने के इच्छुक हो सकते हैं। इस गोचर के दौरान आपके आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। वित्त के लिए मूल रूप से इस गोचर में आपको शुरुआत में काम करना होगा। आप जो चाहते हैं उसे हासिल करने के लिए आपको अतिरिक्त प्रयास करने होंगे।

यदि तुला राशि के जातक संतान की अपेक्षा कर रहे हैं या गर्भधारण करने के इच्छुक हैं तो इस गोचर के दौरान यह पूरा होगा। आपको केवल गोचर के दौरान अपने और अपने जीवनसाथी के स्वास्थ्य का ध्यान रखने की आवश्यकता है। अपनी खोई हुई ऊर्जा को वापस पाने के लिए आप कुछ समय के लिए हाइबरनेशन में आ सकते हैं। शनि गोचर 2023 तुला राशि में आपके करियर के पहलुओं में बदलाव होंगे लेकिन ये बदलाव सकारात्मक होंगे और आपको एक बेहतर मुकाम दिलाएंगे।

शनि गोचर 2023 वृश्चिक राशि मे

वृश्चिक राशि में शनि चतुर्थ भाव में है और छठे भाव की अपेक्षा कर रहा है। राहु और शनि मिलकर भी दशम भाव की अपेक्षा करते हैं। विशिष्ट गोचर के कारण वृश्चिक राशि के जातकों को स्वास्थ्य संबंधी कुछ दिक्कतें आ सकती हैं। इस गोचर के दौरान आपको अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए और अपने काम पर ध्यान देना चाहिए। इस गोचर के दौरान आपके शत्रु सक्रिय होंगे। आप अपना भोजन जमीन पर नहीं रख पाएंगे। मुकदमेबाजी हो सकती है। चीजें बहुत तेजी से आगे बढ़ने वाली हैं और आपके पक्ष में नहीं हैं। यह संपत्ति से संबंधित हो सकता है।

शनि गोचर 2023 वृश्चिक राशि में गोचर के दौरान जून तक आपको कुछ कानूनी मुद्दों का सामना करना पड़ सकता है। बाद के वर्ष में चीजें आसान हो जाएंगी। इस गोचर के दौरान आपको अपने करियर और स्वास्थ्य का ध्यान रखने की आवश्यकता है। कुछ स्थितियों में आपको बहुत सावधान रहना चाहिए और चीजों को परिपक्व तरीके से निपटाना चाहिए।

शनि गोचर 2023 धनु राशि में

शनि तीसरे भाव में है। पंचम भाव में धनु राशि की शनि के साथ कुछ अनबन चल रही है। शनि और राहु दोनों पंचम भाव को प्रभावित कर रहे हैं। शनि और राहु मंगल के साथ नवम भाव को प्रभावित करते हैं। संतान के साथ आपके संबंधों पर शनि का प्रभाव पड़ने वाला है। यह आपकी रचनात्मकता के साथ-साथ आपसे काफी मेहनत भी करवाएगा। आपको ज्ञान और शिक्षण के प्रति अपना दृष्टिकोण बदलना होगा। यह ग्रह आपको कुछ नया सीखने और सिखाने वाला होगा।

शनि गोचर 2023 मीन राशि में गोचर के दौरान आपके विश्वास, मूल्य और दर्शन में बदलाव आएगा। आप देखेंगे कि आपके मौजूदा दर्शन और मान्यताएं बदल जाएगी और आप कहीं ऊंचे स्थान पर पहुंच जाएंगे। लेकिन यह आपके वित्त और परिवार को तुरंत प्रभावित करने वाला है। इसलिए इस गोचर के दौरान कृपया ध्यान करें। चीजों को नजरअंदाज करना सीखें और शांत रहें।नि गोचर 2023 धनु राशि में आपकी मानसिकता में बदलाव लाएगा। यह आपके मस्तिष्क विन्यास को बदलने जा रहा है। आप अधिक आक्रामक रहेंगे। कुछ हासिल करने के प्रति आपका नजरिया बदलेगा। आपको कभी न हारने और हार न मानने का नजरिया मिलेगा। मूल निवासी काम को एक चुनौती के रूप में लेंगे। यदि आप कोई काम हाथ में ले रहे हैं तो उसे पूरा करके सफल होंगे।

शनि गोचर 2023 धनु राशि में करियर के प्रति आपके प्रयास अधिक रहेंगे। शुरुआती दौर में आपको कुछ दिक्कतों और परेशानियों का सामना करना पड़ेगा लेकिन बाद में सब कुछ आसान हो जाएगा। अगर आप खोया हुआ महसूस करते हैं या अपने आप में विश्वास खो देते हैं तो मध्यस्थता का प्रयास करें। इससे आपको खोई हुई ऊर्जा को वापस पाने और नए सिरे से शुरुआत करने में मदद मिलेगी।

शनि गोचर 2023 मकर राशि में

मकर राशि के लिए शनि दूसरे भाव में है। यह परिवार, वाणी और खान-पान के भाव में अपनी राशि में होता है। इस गोचर के दौरान और अन्य ग्रहों के प्रभाव से कुछ अप्रत्याशित घटनाएं और स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। अचानक उतार-चढ़ाव हो सकता है। साथ ही आपको वित्तीय समस्याओं में मदद की आवश्यकता हो सकती है। इस गोचर के दौरान कोई भी निवेश और जुए से बचें। शनि आपको अधिक मेहनत कराने वाला है।

शनि गोचर 2023 मकर राशि में आपको अपनी महत्वाकांक्षाओं, इच्छाओं और लक्ष्यों को लेकर अतिरिक्त सतर्क रहना होगा। प्रॉपर्टी या जमीन-जायदाद से जुड़ा कोई भी सौदा करने से बचें। जातक की माता को स्वास्थ्य संबंधी परेशानी हो सकती है। कभी-कभी आप अपनी मां की देखभाल नहीं कर पाएंगे या अपने परिवार से नहीं जुड़ पाएंगे क्योंकि यह गोचर परिवार, वाणी और भोजन के बारे में है। शनि यह भी वादा करता है कि आप अपनी महत्वाकांक्षाओं, सपनों और लक्ष्यों को प्राप्त करने में सक्षम होंगे। लेकिन शुरुआत में शनि के गोचर से आपको अधिक मेहनत करनी पड़ेगी।

शनि गोचर 2023 मकर राशि में गोचर के दौरान संभावना है कि आप किसी बुरी आदत में पड़ सकते हैं। इसलिए इस गोचर के दौरान आपको बहुत सावधान रहना चाहिए और शांत रहना चाहिए क्योंकि चीजें आपको काफी प्रभावित कर सकती हैं। आपको परिपक्व होकर कार्य करना होगा और अपनी विचारधाराओं को बदलना होगा। इस गोचर के दौरान आप अपने विचारों में कुछ बदलाव आते हुए पाएंगे। जीवन के प्रति आपका दर्शन बदल सकता है। उदाहरण के लिए आप भोजन के प्रति आकर्षित हो सकते हैं। लेकिन आपको अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए और जंक फूड खाने से बचना चाहिए।

शनि गोचर 2023 कुंभ राशि में

जैसा कि हम जानते हैं कि शनि अपनी राशि में वापस आ गया है। राहु और शनि एक साथ तीसरे घर की उम्मीद कर रहे हैं। यह घर संचार, सीखने और सिखाने के लिए है। शनि आपको आक्रामक बनाएगा। चीजों के प्रति आपका नजरिया बदलेगा। जब तक राहु न हो तब तक सख्त कदम उठाने से बचें। अक्टूबर 2023 तक आप जो बोल रहे हैं उसमें बहुत सावधानी बरतें और कोई भी वादा करने से बचें। छोटे भाई-बहनों के लिए परेशानी हो सकती है।

आप काफी प्रयास कर रहे होंगे और अपने करियर की दिशा में पहल कर रहे होंगे। लेकिन अक्टूबर तक इनसे परहेज करें। इस गोचर के दौरान तीसरा भाव अत्यधिक सक्रिय होता है। लेकिन राहु और शनि का मिलन अक्टूबर में आपको अच्छे परिणाम देगा। अक्टूबर के बाद आप कुछ नया सीखेंगे और नई पहल करेंगे। यह गोचर आपके करियर के लिए बहुत अच्छा रहेगा।

इस गोचर से यानि शनि गोचर 2023 कुंभ राशि में आपको बहुत कुछ सिखाने का वादा करता है। यह आपको और अधिक परिपक्व और समझदार बना देगा। आप वह व्यक्ति होंगे जिसकी लोग समाधान के लिए आशा करेंगे। शनि आपकी राशि बदलेगा। आप अधिक व्यावहारिक रहेंगे।

शनि गोचर 2023 मीन राशि मे

शनि बारहवें भाव में होकर दूसरे, छठे और नौवें भाव की अपेक्षा कर रहा है। इस गोचर के दौरान आपको दान करने की सलाह दी जाती है। ऐसा हर शनिवार करें। यदि आप दान नहीं करते हैं तो राहु और शनि गोचर 2023 प्रभाव आपकी जेब खाली कर देगा। इस गोचर के दौरान आपके धन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। शनि आपको पैसों के लिए काफी मेहनत करने वाला है।

शनि गोचर 2023 मीन राशि में गोचर के दौरान आपके विश्वास, मूल्य और दर्शन में बदलाव आएगा। आप देखेंगे कि आपके मौजूदा दर्शन और मान्यताएं बदल जाएगी और आप कहीं ऊंचे स्थान पर पहुंच जाएंगे। लेकिन यह आपके वित्त और परिवार को तुरंत प्रभावित करने वाला है। इसलिए इस गोचर के दौरान कृपया ध्यान करें। चीजों को नजरअंदाज करना सीखें और शांत रहें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल-

यदि शनि तीसरे, छठे और प्रथम भाव में हो तो यह शुभ फल देने वाला माना जाता है। यह व्यक्ति की कुंडली पर भी निर्भर करता है।
इस गोचर के दौरान आपके विश्वास, मूल्य और दर्शन में बदलाव आएगा। आप देखेंगे कि आपके मौजूदा दर्शन और मान्यताएं बदल जाएगी और आप कहीं ऊंचे स्थान पर पहुंच जाएंगे। लेकिन यह आपके वित्त और परिवार को तुरंत प्रभावित करने वाला है। इसलिए इस गोचर के दौरान कृपया ध्यान करें। चीजों को नजरअंदाज करना सीखें और शांत रहें।
हम देख सकते हैं कि इस गोचर के दौरान शनि 11वें भाव में है। यह पहले घर जहां राहु स्थित है, पांचवें घर और आठवें घर को देखता है। अतः मेष राशि के जातकों के लिए यह गोचर बहुत ही लाभकारी रहेगा। इस अवधि के दौरान हम लोगों को उनके दीर्घकालिक लक्ष्यों, सपनों और इच्छाओं पर काम करते हुए देखेंगे।
आपको अपनी महत्वाकांक्षाओं, इच्छाओं और लक्ष्यों को लेकर अतिरिक्त सतर्क रहना होगा। प्रॉपर्टी या जमीन-जायदाद से जुड़ा कोई भी सौदा करने से बचें। जातक की माता को स्वास्थ्य संबंधी परेशानी हो सकती है। कभी-कभी आप अपनी मां की देखभाल नहीं कर पाएंगे या अपने परिवार से नहीं जुड़ पाएंगे क्योंकि यह गोचर परिवार, वाणी और भोजन के बारे में है।
शनि गोचर 2023 कुंभ राशि में होगा। शनि गोचर की अवधि एक राशि में 2.5 वर्ष की होती है। शनि 17 जनवरी 2023 को कुंभ राशि में प्रवेश करेगा और यह 2025 तक कुंभ राशि में ही रहेगा। यह एक लंबा गोचर होने वाला है। शनि मकर राशि से निकलकर कुंभ राशि में प्रवेश करेगा। कुम्भ शनि की अपनी राशि है।
सिंह राशि के लिए शनि सप्तम भाव में है। राहु नवम भाव में है। इसलिए हम अक्टूबर तक आपके पिता के स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ने की उम्मीद कर सकते हैं। इसके अलावा आपका आपके शिक्षक या गाइड के साथ कुछ अनबन हो सकती है। शनि भी चौथे घर की उम्मीद कर रहा है। यह आपकी मां, घर और परिवार का घर है। ये भी नकारात्मक रूप से प्रभावित हो सकते हैं। लेकिन आप इस गोचर के दौरान संपत्ति जैसी चीजों के सकारात्मक होने की उम्मीद कर सकते हैं।
Karishma tanna image
close button

Karishma Tanna believes in InstaAstro

Urmila  image
close button

Urmila Matondkar Trusts InstaAstro